उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री, योगी आदित्यनाथ ने बीते बुधवार को नागरिकता संशोधन क़ानून पर हो रहे विरोध पर बयान दिया.


India Today की रिपोर्ट के अनुसार, योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में किसी भी प्रदर्शक की मृत्यु पुलिस की गोलियों से नहीं हुई है और जो भी लोग मारे गये हैं वो आपस में हुई गोली-बारी से मारे गए हैं.

Source: India Today
यूपी में कोई दंगा नहीं हुआ है. अगर कोई मरने के लिए आ ही रहा है, वो ज़िन्दा कैसे बचेगा. पुलिस की गोली से कोई नहीं मरा.

- योगी आदित्यनाथ

लखनऊ में विधान सभा को संबोधित करते हुए आदित्यनाथ ने ये बयान दिया.

उपद्रवी, उपद्रवी की गोली से मरे हैं.

- योगी आदित्यनाथ

योगी आदित्यनाथ का कहना था कि उत्तर प्रदेश पुलिस की आलोचना करने के बजाए उनकी तारीफ़ करनी चाहिए.


रिपोर्ट्स के अनुसार, नागरिकता संशोधन क़ानून के विरोध प्रदर्शन में उत्तर प्रदेश में 20 लोगों की मौत हो गई थी. India Today से बात-चीत में यूपी पुलिस डीजीपी ओ.पी.सिंह ने बताया था कि कानपुर में पुलिस फ़ायरिंग में 1 शख़्स की मौत हुई थी. डीजीपी सिंह ने ये भी बताया था कि बिजनौर और कानपुर में पुलिस ने ओपन फ़ायर किया था.

योगी आदित्यनाथ ने सीएए का विरोध कर रहे लोगों पर टिप्पणी करते हुए कहा कि लोकतंत्र का हवाला देते हुए हिंसा और आगज़नी करने वालों को उन्हीं की भाषा में जवाब दिया जायेगा.