हरियाणा सरकार कॉलेज छात्राओं को ग्रेजुएशन की डिग्री के साथ पासपोर्ट उपलब्ध करवाएगी. राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शनिवार को एलान किया है कि छात्राओं को पासपोर्ट देने की सारी प्रक्रिया कॉलेज में ही पूरी कर ली जाएगी.

Source: indiatimes

सीएम खट्टर ने कहा, ‘राज्य सरकार ने निर्णय लिया है कि सभी छात्राओं को अपनी स्नातक की डिग्री के साथ ही संस्थानों से पासपोर्ट प्राप्त करना चाहिए.’

सीएम मनोहर लाल खट्टर ने 'हर सर हेलमेट' नाम के एक कार्यक्रम में इसकी घोषणा की है. इसी के साथ 100 स्टूडेंट्स को लर्निंग ड्राइविंग लाइसेंस और फ्री हेलमेट दिया गया. इस कार्यक्रम के तहत सरकार की योजना है कि हर विधानसभा में एक-एक हज़ार विद्यार्थियों को लाइसेंस दिया जाएगा. इसका उद्देश्य है कि बच्चों को ट्रैफ़िक नियमों के बारे में सही तरीके से जानकारी दे दी जाए.

Source: ind.news

उद्घाटन के दौरान सीएम खट्टर ने कहा, ‘छात्रों को रोड सेफ़्टी और रेगुलेशन के बारे में बेसिक ट्रेनिंग के साथ 18 साल की उम्र में कॉलेज से स्नातक होने के दौरान एक लर्निंग लाइसेंस मिलेगा. हेलमेट लगाना बहुत ज़रूरी है.’

उन्होंने कहा कि देश में हर रोज़ 1300 एक्सीडेंट होते हैं. इसमें बिना हेलमेट ड्राइव करने वालों की जान चली जाती है. हरियाणा में हर साल करीब 4500 एक्सीडेंट होते हैं. इसमें प्रतिदिन 13 व्यक्तियों की मौत होती है. स्टडी बताती हैं कि अगर किसी ने हेलमेट पहन रखा हो, तो 80 फ़ीसदी उम्मीद होती है कि एक्सीडेंट में जान बच जाए.