इसरो के दूसरा चंद्रमा मिशन, चंद्रयान-2 के लैंडर विक्रम से चंद्रमा से सिर्फ़ 2.1 किलोमीटर की दूरी पर सिग्नल मिलने बंद हो गए.


इसरो के चीफ़, के. सिवन ने जानकारी दी कि विक्रम से सिग्नल आने बंद हो गया हैं, उपलब्ध डेटा को Analyse करके जानकारी दी जाएगी.

विक्रम लैंडर ने Rough Breaking ख़त्म कर, Final Breaking शुरू भी कर दी थी.

Chandrayaan 2
Source: ISRO

भारत इतिहास रचने से सिर्फ़ 2 क़दम की दूरी पर है. अगर विक्रम लैंडर के सफ़लतापूर्वक लैंड करने की सूचना मिल जाती है, तो भारत चंद्रमा पर सॉफ़्ट लैंडिंग करने वाला चौथा और चंद्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर लैंड करने वाला पहला देश बन जाता.

22 जुलाई को भारतीय समय के अनुसार दोपहर के 2:43 बजे, चंद्रयान-2 को सतीश धवन स्पेस सेंटर से लॉन्च किया गया था.

ट्विटर की प्रतिक्रिया-