आप शराब-सिगरेट के नशे से तो वाकिफ़ होंगे. चरस-गांजा भी जानते ही होंगे. कुछ चरम नशेड़ी भी होते हैं, जो वाइटनर और आयोडेक्स या अमृतांजन जैसे जेल का नशा भी करते हैं. मगर पश्चिम बंगाल में कुछ नशेड़ियों ने इन सबको पीछे छोड़ दिया है. रिपोर्ट के मुताबिक, यहां लोग कंडोम का नशा (Condom addiction) कर रहे हैं. जी हां, पश्चिम बंगाल (West Bengal) के दुर्गापुर (Durgapur) में कुछ लड़के इस नशे के आदी हो चुके हैं.

Condom
Source: verywellhealth

ये भी पढ़ें: अगर शराबी 1 महीने तक शराब ना पिए, तो शरीर पर क्या असर पड़ेगा?

बताया जा रहा है कि बीते कुछ दिनों में दुर्गापुर सिटी सेंटर, बिधान नगर, बेनाचिती और मुचीपारा में फ्लेवर वाले कंडोम की बिक्री में बहुत तेज़ी से इजाफ़ा हुआ है. बता दें, इस बात का ख़ुलासा तब हुआ, जब एक दुकानदार ने अपने रोज़ के कस्टमर से एक दिन पूछा कि आखिर वो इतने सारे कंडोम क्यों ख़रीद रहा है? उसने जो जवाब दिया, उसने हर किसी को चौंका दिया.

दरअसल, उसने बताया कि वो ऐसा नशा करने के लिए कर रहा है. 

Condom addiction In West Bengal

नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन के एक जर्नल में छपी रिसर्च के मुताबिक़, फ़्लेवर कंडोम में एरोमैटिक कंपाउंड होते हैं जो टूटकर एल्कोहल में तब्दील हो जाती है. इसकी लत काफ़ी खराब हो सकती है. इस तरह के कंपाउंड कई दूसरी चीजों में भी पाए जाते हैं. मसलन, डेंड्राइट ग्लू.

Condom addiction
Source: nm

एक केमेस्ट्री टीचर के मुताबिक, कंडोम को लंबे समय तक गर्म पानी में डालने से उसके एरोमैटिक कंपाउंड टूट जाते हैं. ये कंपाउंड एल्कोहल में बदल जाते हैं. जिससे नशा होता है.

दुर्गापुर की एक मेडिकल शॉप वाले का कहना है, 'पहले 3 से 4 कंडोम की बिक्री होती थी. लेकिन अब कंडोम दुकानों से ग़ायब हो जा रहे हैं.'

बता दें, इस खबर ने लोगों को चिंता में डाल दिया है. आशंका जताई जा रही है कि जल्द ही युवाओं का एक बहुत बड़ा समूह इस लत की चपेट में आ सकता है. साथ ही, ये नशा सेहत के लिए भी बेहद ख़तरनाक है. मसलन, आपको सांस से संबंधित रोग हो सकते हैं, ब्रेन डैमेज हो सकता है, हार्ट अटैक और लीवर-किडनी तक ख़राब हो सकती है.