इलेक्शन का सीज़न है. वातावरण में गर्मी बढ़ रही है और साथ में चुनावी सरगर्मी भी.

और अब इस बढे हुए पारे का असर भी दिखना शुरू हो गया है.

अरे नहीं-नहीं, हम हाल ही में एक सांसद और विधायक के बीच हुए ‘बूट-युद्ध’ की चर्चा नहीं कर रहे है.

Source: latestly.com

हम जिस द्वंद की चर्चा कर रहे हैं, उसका रणक्षेत्र तो टीवी स्टूडियो था. दरअसल शनिवार को एक लाइव टीवी बहस के दौरान कांग्रेस के प्रवक्ता, आलोक शर्मा ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रवक्ता, के.के. शर्मा पर एक ग्लास पानी फेंक दिया.

आलोक शर्मा ने अपना आपा तब खो दिया जब उनके भाजपा समकक्ष ने उन्हें कई बार 'गद्दार' कहा. देशद्रोही टिप्पणी से नाराज़, आलोक शर्मा ने गुस्से में भाजपा के प्रवक्ता पर एक ग्लास पानी फेंक दिया.

इसमें टीवी एंकर भी भीग गए. बचे हुए कार्यक्रम को प्रस्तुत करने के लिए एंकर को अपने कपड़े बदलने पड़े.

भाजपा प्रवक्ता ने आलोक शर्मा से अपने आचरण के लिए माफ़ी मांगने को कहा. तो वहीं आलोक शर्मा ने भी खुद को देशद्रोही कहे जाने के लिए माफ़ी की मांग की.

कथित तौर पर ये बहस भारतीय बलों के राजनीतिकरण के मुद्दे पर हो रही थी, जिसमें दो राष्ट्रीय पार्टी के प्रवक्ता और दो सेवानिवृत्त सैन्यकर्मी भाग ले रहे थे.

Source: newsmobile

लोकसभा चुनाव के नज़दीक आते ही, किसी भी पार्टी को अपने विरोधी फूटी आंख नहीं सुहा रहे हैं. राजनेता एक-दूसरे की तीखी आलोचना करने में व्यस्त हैं.

मगर इस क्रम में वो न भाषा का लिहाज़ रख रहे हैं और न ही अपने आचरण का. टीवी न्यूज़ स्टूडियो अब बहस का कम और नेताओं के अपने दम-ख़म को आज़माने की जगह ज़्यादा मालूम होती है.