अगर कोई पुलिसकर्मी सड़क किनारे आपकी गाड़ी को रोकने की कोशिश करे तो इसका ये मतलब नहीं है कि वो आपका चालान काटेगा. हमें पुलिसवालों को इन संदिग्ध नज़रों से नहीं देखना चाहिए. क्या पता उन्हें हमारी किसी मदद की ज़रूरत हो. इसी तरह का एक मामला तमिलनाडु से भी सामने आया है. 

Source: google

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे एक वीडियो में एक पुलिसकर्मी और बाइकर ने मिलकर जिस तरह से बुज़ुर्ग महिला की मदद की है वो काबिले-तारीफ़ है . ये वीडियो लोगों को ज़रूरतमंदों की मदद करने और अपने अंदर इंसानियत बनाए रखने की सीख दे रहा है. 

Source: google

दरअसल, इस वायरल वीडियो में दिखाई दे रहा है कि सड़क किनारे खड़ा पुलिसवाला बाइक सवार एक युवक को हाथ देकर रोकता है. इस दौरान वो बाइकर से पूछता कि क्या वो तेनकासी जा रहा है? इस पर वो हां कहाता है तो पुलिसकर्मी उसे एक दवा की बोतल थमाते हुए कहता है इसी रास्ते पर आगे एक बस जा रही है जिसमें एक बुज़ुर्ग महिला बैठी हैं. उनकी दवा गिर गई है इसलिए आप उन तक ये दवा पहुंचा दीजिये. 

पुलिसवाले से दवा की शीशी लेने के बाद ये बाइक सवार युवक तेज़ी से बस का पीछा करता है. कुछ किमी चलने के बाद वो बस के क़रीब पहुंच जाता है. इस दौरान वो ड्राइवर को इशारे में बस रोकने को कहता है. ड्राइवर के बस रोकने पर वो उसे बताता है कि बस में सवार एक बुज़ुर्ग महिला की दवाई गिर गई थी जिसे वो लाया है. इसके बाद वो दवाई सौंपकर वहां से चला जाता है. 

Source: eastmojo

तमिलनाडु पुलिस की कोशिश और बाइकर के नेक काम की वजह से इनकी सोशल मीडिया पर ख़ूब सराहना हो रही है. पुलिसकर्मी और बाइकर की नेकदिली ने यूज़र्स का दिल छू लिया है. इस वीडियो को अब तक 7.43 लाख व्यूज़ मिल चुके हैं. 

बताया जा रहा है कि ये बाइकर पेशे से एक युट्यूबर है, जो अक्सर सड़कों पर ज़रूरतमंदों की मदद करता है. इस वीडियो को अन्नी अरुण नाम के एक यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया गया है. अन्नी अरुण नाम के इस यूट्यूबर के युट्यूब पर 85 हज़ार फ़ॉलोअर्स हैं.