भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या 28,062 हो गई है. जबकि 884 अब तक अपनी जान गंवा चुके हैं. कोरोना से संक्रमित 6,527 लोग ठीक हो चुके हैं. संक्रमितों का रिकवरी रेट बढ़कर 20.59% हो गया, जो सबसे अधिक है.

Source: amarujala

आईये जानते हैं पिछले 24 घंटे में देशभर से कोरोना से जुड़ी कौन-कौन सी ख़बरें आ रही है? 

1- देश के 9 राज्यों में कोरोना मरीज़ों की संख्या 1000 के पार, 9 राज्यों में कोरोना के 88% मरीज़ हैं. महाराष्ट्र में 8,068, गुजरात में 3,301, दिल्ली में 2,918, राजस्थान में 2,221, मध्यप्रदेश में 2,090, तमिलनाडु में 1,885, उत्तरप्रदेश में 1,873, आंध्रप्रदेश में 1,177 मरीज़, जबकि तेलंगाना 1000 का आंकड़ा पार करने वाला 9वां राज्य बना.  

2- केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के ऑफ़िसर ऑन स्पेशल ड्यूटी (OSD) ऑफ़िस में तैनात सुरक्षाकर्मी कोरोना पॉज़िटिव पाया गया. इसके बाद ओएसडी व कुछ कर्मचारियों को सेल्फ़ क़्वारंटीन होने की सलाह दी गई है. संक्रमित सुरक्षाकर्मी के संपर्क में आए लोगों का पता भी लगाया जा रहा है.  

Source: theatlantic

3- भारत में प्लाजमा थेरेपी से ठीक होने का पहला मामला सामने आया है. प्लाजमा थेरेपी के ज़रिए कोरोना को मात देने वाला ये शख्स दिल्ली से है. 4 अप्रैल को 49 वर्षीय इस शख्स को कोरोना पॉज़िटिव पाया गया था. उसके बाद साकेत के मैक्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था. 

4- पूर्वी दिल्ली पटपड़गंज में स्थित मैक्स अस्पताल के 33 स्वास्थ्य कर्मचारी कोरोना पॉज़िटिव पाए गए हैं. इनमें 2 डॉक्टर व 23 नर्सिंग स्टाफ़, टेक्नीशियन और सहायक स्टाफ़ शामिल हैं. इन सभी को मैक्स साकेत के कोविड-ओनली में शिफ़्ट कर दिया गया है. जबकि अस्पताल की 145 नर्सों को एक निजी हॉस्टल में 14 दिन के क्वारंटीन में रखा गया है.

Source: bhaskar

5- दिल्ली के बाबा साहब अंबेडकर अस्पताल के 29 डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों की रिपोर्ट कोरोना पॉज़िटिव आई है. बाबू जगजीवन राम अस्पताल में भी डॉक्टरों समेत स्टाफ़ के 44 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. वहीं दिल्ली एम्स की चौथी नर्स संक्रमित मिली, उसके दोनों बच्चे भी संक्रमित पाए गए हैं. 

6- आंध्रप्रदेश के कुरनूल से YSR कांग्रेस के सांसद डॉ. संजीव कुमार के परिवार के 6 सदस्य कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. इनमें संजीव के 80 साल के पिता, 2 भाई और उनकी पत्नियां और 1 भतीजे की रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है. 

Source: mictv

7- सोमवार की सुबह कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु के विक्टोरिया अस्पताल में 50 साल के एक कोरोना संक्रमित शख़्स ने अस्पताल की ईमारत से कूद कर आत्महत्या कर ली. 

8- IIT Delhi ने महज 300 रुपये में बनाई है सबसे सस्ती 'कोरोना टेस्टिंग किट', फिलहाल जिस कोरोना टेस्टिंग किट से लोगों की जांच की जा रही है उसकी कीमत 4500 रुपये है. 

9- देश में कोरोना संकट के बीच चैन्नई में वीआईपी काफ़िले को निकालने के लिए द्वीप ग्राउंड चौराहे के पास ट्रैफ़िक पुलिस ने न सिर्फ़ यात्रियों को बल्कि एक एंबुलेंस को भी रोक दिया. भारत के 2967 बाघों पर 

10- एनआईबी नॉएडा के मुताबिक़ बाबा साहेब आंबेडकर अस्पताल के कम से कम 29 स्वास्थ्यकर्मी (डॉक्टर्स, नर्स, कर्मचारी) कोरोना से संक्रमित पाए गए हैं. 

11- पंजाब में कोरोना वॉरियर हरजीत सिंह को असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर से प्रमोट करके सब-इंस्पेक्टर बना दिया गया है. लॉकडाउन के दौरान निहंगों के हमले में उनका हाथ कट गया था. हालांकि, बाद में डॉक्टरों ने इसे जोड़ दिया. इस दौरान राज्य के डीजीपी दिनकर गुप्ता ने हरजीत के सम्मान में एक दिन के लिए अपनी वर्दी पर उनकी नेम प्लेट लगाई.

Source: amarujala

12- भारत के 2967 बाघों पर कोरोना वायरस का साया, 50 टाइगर रिजर्व में हाई अलर्ट पर. हाल ही में 'पेंच टाइगर रिजर्व' में एक बाघ की मौत हो गई थी. पूरी दुनिया के तीन चौथाई बाघ अकेले भारत में हैं. 

Source: bhaskar

13- भोपाल में कोरोना महामारी के बीच रविवार को एक शादी हुई. इसमें वर-वधु ने ख़ुद को संक्रमण से बचाने के लिए मास्क लगाकर 7 फ़ेरे लिए. कोरोना से बचना बेहद ज़रूरी है ऐसे में ये तस्वीर यही संदेश दे रही है.  

Source: bhaskar

14- कोरोना संक्रमण के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए मुंबई के जुहू में लगी वारकरी की मूर्तियों को मास्क पहना दिए गए. विट्‌ठल भगवान के भक्तों को वारकरी कहा जाता है. 

15- महाराष्ट्र के सांगली से साइकिल चलाकर 1700 किलोमीटर की यात्रा करके ओडिशा स्थित अपने गांव पहुंचे 20 वर्षीय मज़दूर महेश जेना को क्वारंटीन पूरा करने के बाद छोड़ दिया गया है. महेश 1 अप्रैल को निकले थे और 7 अप्रैल को जजपुर में अपने गांव पहुंचे. इस दौरान उन्होंने रोजाना 14 से 16 घंटे साइकिल चलाई और रास्ते में मंदिरों में सोये.  

Source: amarujala

16- कोरोना संकट के बीच म्यूचुअल फ़ंड्स के लिए आरबीआई ने दिए 50 हज़ार करोड़. म्युच्युअल फ़ंड सेक्टर को आर्थिक दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था. इसी के चलते आरबीआई ने 50 हज़ार करोड़ के पैकेज का एलान किया.