पूरी दुनिया में कोरोना वायरस से पीड़ित मरीज़ों की संख्या बढ़कर 1,016,381 हो गई है. इसकी वजह से दुनिया के कई देश लॉकडाउन हो चुके हैं. हर कोई इस महामारी की कीमत किसी न किसी रूप में चुका रहा है. फिर चाहे वो पैदल घर को जाते मज़दूर हों या फिर अपने घर में बंद लोग. मगर विपदा की इस घड़ी में कुछ लोग हार नहीं मान रहे हैं.

ऐसे ही एक परिवार की कहानी मलेशिया से आई है, जिसे हम आपके साथ शेयर कर रहे हैं. ये स्टोरी है Dr. Samsu Ambia Ismail की, जिनके परिवार के 7 लोग कोरोना पॉज़िटिव हैं.

दरअसल, Dr. Samsu मलेशिया के Teluk Intan Hospital के इमरजेंसी वार्ड के हेड हैं. कोरोना के केसेस को हैंडल करने के दौरान उन्हें ये बीमारी लग गई. इसके बाद उन्होंने ख़ुद को आईसोलेशन में रख लिया. मगर कुछ दिन बाद उन्हें पता चला कि उनकी बीवी और बच्चों में भी इसके लक्षण पाए गए हैं.

Dr. Samsu
Source: thestar

किसी के लिए भी ये बहुत बड़ा सदमा हो सकता है. मगर उनके परिवार ने मुश्किल की इस घड़ी में भी हार नहीं मानी है. वो सकारात्मक रूप से इस बीमारी से जंग लड़ रहे हैं. साथ ही TikTok पर अपने परिवार के कुछ वीडियो भी शेयर कर रहें, ताकि जो लोग इस वायरस से पीड़ित हैं उन्हें हौसला मिल सके.

उनकी 17 साल की बेटी Erika Syamim Samsu Ambia का ऐसा ही एक वीडियो TikTok पर कुछ समय पहले वायरल हो गया था. इससे इस फ़ैमिली का उत्साह बढ़ा और वो दूसरे लोगों को भी प्रेरित करने के लिए ऐसे वीडियो बनाने लगे.

इस बारे में बात करते Dr. Samsu ने कहा- 'मैं इसके लिए किसी को दोषी नहीं ठहराता, बल्कि मैं उन सभी लोगों को दिल से धन्यवाद कहना चाहता हूं जो इस बीमारी से लड़ने में हमारी मदद कर रहे हैं. डॉक्टर्स-स्टाफ़ जो हमारी देखभाल में लगे हैं, ये सभी कोरोना से जारी इस जंग में हमारे साथ किसी योद्धा की तरह लड़ रहे हैं.'

हमें लगता है कि दुनियाभर के तमाम कोरोना पीड़ितों को सकारात्मक रूप से इस बीमारी से लड़ने की प्रेरणा मिलेगी. कोरोना जैसी महामारी को हराने के लिए हमें ऐसे ही सकारात्मक परिवारों की ज़रूरत है.

News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.