दुनिया के 195 देश कोरोना महामारी से जूझ रहे हैं. अब तक हम केवल मास्‍क, सेनिटाइज़र और दो गज की दूरी के साथ इस महामारी से लड़ रहे थे. लेकिन अब हमारे पास वैक्‍सीन है. ब्रिटेन दुनिया का पहला देश बन गया है जहां लोगों को कोरोना वैक्सीन दी जा रही है. 

Source: abplive

भारत भी कोरोना वैक्सीन पाने की जुगत में लगा हुआ है. कई भारतीय कंपनियां वैक्सीन तैयार करने में जुटी हुई हैं. भारत सरकार ने भी इसके वितरण के लिए कमर कस ली है. हालांकि, वैक्सीन हर किसी को इतनी आसानी से नहीं मिलने वाली, इसे पाने के लिए लोगों को पहले रजिस्ट्रेशन कराना होगा. 

Source: fiercehealthcare

कैसे करें रजिस्ट्रेशन? 

भारत सरकार वैक्सीन के रजिस्ट्रेशन के लिए जल्द ही Co-Win ऐप लांच करने जा रही है. गूगल प्ले स्टोर से एप डाउनलोड करने के बाद रजिस्ट्रेशन करना होगा. रजिस्‍ट्रेरेशन के बाद एक टोकन नंबर दिया जायेगा, इसी के तहत वैक्सीन की डोज़ मिलेगी. रजिस्ट्रेशन कराए बिना किसी को भी वैक्सीन की डोज़ नहीं दी जाएगी. किसी भी अन्य तरीक़े से भी इसकी बिक्री नहीं की जा सकेगी. 

Source: zeenews

सबसे पहले किसे मिलगी वैक्सीन? 

इस दौरान पहले चरण में केवल डॉक्‍टरों व अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों को वैक्‍सीन दी जाएगी. इसके बाद दूसरे चरण में फ़्रंट लाइन पर कोरोना से जंग लड़ने वालों जबकि तीसरे चरण में वैक्सीन आम लोगों को उपलब्‍ध कराई जाएगी.   

Source: ndtv

फ़िलहाल पहले चरण में कोराना की वैक्‍सीन देने के लिए सरकारी और निजी अस्पतालों के डॉक्टरों तथा अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों के आंकड़े एकत्र किए जा रहे हैं. इसके बाद उन सभी का Co-Win ऐप पर रजिस्‍ट्रेशन कराया जाएगा. आम लोगों को भी इसी तरह से रजिस्‍ट्रेशन कराना होगा. 

Source: moneycontrol

इसके अलावा सरकार ने वैक्सीन के प्रबंधन के लिए वेब पोर्टल भी तैयार कर लिया है. इसपर टीकाकरण की पूरी जानकारी दी जाएगी. सभी राज्य सरकारों को भी वेब पोर्टल तैयार करने के निर्देश दिए जा चुके हैं. वैक्‍सीन देने के दौरान रजिस्‍ट्रेशन का सत्‍यापन इसी पोर्टल से किया जाएगा.