कोरोना वायरस इस वक़्त पूरी दुनिया पर क़हर बरपा रहा है. विश्व में 1,605,277 लोग अब तक इस ख़तरनाक वायरस की चपेट में आ चुके हैं. वहीं, 95,751 लोगों की संक्रमण से मौत हो गई जबकि 356,925 लोग ऐसे भी हैं, जिनका सफ़लतापूर्वक इलाज किया जा चुका है. कोरोना वायरस के एक्टिव केस 1,152,601 हैं.

Source: vox

जानिए किस क़दर दुनिया पर क़हर बरपा रहा है कोरोना वायरस-

-अमेरिका में कोरोना वायरस के मामलों में तेज़ी से बढ़ोतरी हो रही है. यहां 468,895 लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं. वहीं, 16,697 लोगों की अबतक मौत हो चुकी है. गुरुवार को ही यहां 33536 नए केस सामने आए हैं. जबकि 1900 लोगों की जान गई. शुक्रवार को यहां अब तक 329 नए केस सामने आए हैं और 6 लोगों के मरने की ख़बर है. यहां एक्टिव केस 425,947 हैं.

Source: theverge

-स्पेन में 153,222 लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं. वहीं, 15,447 लोगों की जान चली गई. गुरुवार को यहां 5002 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 655 लोगों की मौत हो गई. यहां एक्टिव केस 85,610 हैं.

-इटली में 143,626 लोग संक्रमित हो चुके हैं. वहीं, 18,279 लोगों की मौत हो चुकी है. गुरुवार को यहां 4204 नए केस सामने आए हैं, जबकि 610 लोगों के मरने की ख़बर है. यहां एक्टिव केस 96,877 हैं.

Source: axios

-जर्मनी में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख़्या 118,235 है. वहीं, 2,607 मरीज़ों की मौत हो चुकी है. 9 अप्रैल को यहां 4939 नए कोरोना मरीज़ सामने आए हैं, जबकि 258 मौतें दर्ज़ की गईं. यहां एक्टिव केस 63,221 हैं.

- चीन ने शुक्रवार को नए कोरोना वायरस (COVID-19) मामलों में गिरावट की ख़बर है. ख़ास तौर से बाहर से आने वाले संक्रमण में कमी आई है. दरअसल, यहां यात्रा पर से प्रतिबंध हट गया था, जिसके बाद आशंका थी कि दोबारा ये देश वायरस की चपेट में आ जाएगा. शुक्रवार को यहां 42 नए केस सामने आए हैं, जबकि एक दिन पहले यहां 63 मामले देखने को मिले थे.

Source: foreignpolicy

चीन में कोरोना मरीजों की संख़्या 81,907 है. वहीं, 3,336 मौतें अब तक हो चुकी हैं. यहां एक्टिव केस 1,116 हैं.

-फ़्रांस में 117,749 लोग इस वायरस से संक्रमित हैं. वहीं, 12,210 लोगों की कोरोना से मौत हुई है. गुरुवार को यहां 4799 नए संक्रमित मरीज़ सामने आए हैं, जबकि 1341 लोगों की मौत हुई है. यहां एक्टिव केस 82,333 हैं.

-संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटरेस ने आगाह करते हुए कहा है कि कोरोना महामारी अंतरर्राष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए बड़ा ख़तरा पैदा कर दिया है. उन्होंने कहा कि इसकी वजह से सामाजिक तनाव और हिंसा बढ़ सकती है और इसने बीमारियों से लड़ने की हमारी क्षमता को कम कर दिया है.