26 जनवरी को दिल्ली में हुए किसान आंदोलन (ट्रैक्टर रैली) के दौरान लाल क़िले पर झंडा फहराने वाला पंजाबी अभिनेता दीप सिद्धू फ़रार बताया जा रहा है. सिद्धू ने 27 जनवरी को फ़ेसबुक लाइव के दौरान ख़ुद पर लगे आरोपों पर सफ़ाई भी दी थी. 

Source: newsnationtv

दीप ने एक वीडियो जारी कर आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि, अगर मेरे कहने से किसानों की भीड़ लाल क़िले जा सकती है, तो 'संयुक्त किसान मोर्चा' के लोग आख़िर किस तरह उनके नेता होने का दावा करते हैं.  

Source: patrika

बता दें कि लाल क़िले पर झंडा फ़हराने के मामले में दिल्ली पुलिस एक्शन में है. हिंसा भड़काने वाले आरोपियों की धरपकड़ जारी है. इस बीच हिंसा भड़काने वाला दीप सिद्धू फरार बताया जा रहा है. पुलिस से बचने के लिए सिद्धू ने अपना मोबाइल भी बंद कर दिया है. सिद्धू की लास्ट लोकेशन हरियाणा में थी.  

Source: navjivanindia

एंटी टेरर यूनिट एक्टिव 

दिल्ली पुलिस की 'एंटी टेरर यूनिट' यानी 'स्पेशल सेल' की कई टीमें लाल क़िले में झंडा फ़हराने वालों की तलाश में जुटी हैं. आंदोलनकारियों की पहचान के लिए फ़ेसियल रिकॉग्निशन सिस्टम की मदद भी ली जा रही है. दीप सिद्धू और गैंगेस्टर लक्खा सदाना की तलाश में भी स्पेशल सेल तेज़ी से जुटी है. लाल क़िले की तमाम फुटेज खंगाली जा रही है. पुलिस की कई टीमें एक साथ अलग-अलग मोर्चे पर काम कर रही हैं.