दिवाली के बाद की सुबह दिल्ली वालों के लिए सांस लेना भी दूभर हो गया. रिपोर्ट्स के अनुसार, सोमवार सुबह 7 बजे दिल्ली का Air Quality Index 506 था. वही सुबह 4 बजे ये 999 था.


कान-फोडू़ पटाखे, ज़हरीले धुंए की वजह से दिल्ली की हवा बद से बद्तर हो गई. 2 घंटे के विंडो में पटाखे जलाने वाले प्रस्ताव की दिल्ली वालों ने धज्जियां उड़ाई.

Source: Financial Express

0-50 के बीच AQI को Good, 51-100 को Satisfactory, 101-200 को Moderate, 201-300 को Poor, 301-400 को Very Poor और 401-500 को Severe माना जाता है. 500 से ज़्यादा AQI को 'Severe Plus Emergency' Category में रखा जाता है.


पिछले साल दिवाली के बाद दिल्ली का AQI 600 से ज़्यादा था और 2017 में ये 367 था.

15 अक्टूबर से 15 नवंबर का समय दिल्ली की हवा के लिए बहुत नाज़ुक माना जाता है. पंजाब और हरियाणा के किसान इस समय ही पराली (फसल का बचा हिस्सा) जलाते हैं.

दिल्ली सरकार ने इस साल दिवाली पर प्रदूषण से लड़ने के लिए केजरीवाल सरकार ने 'लेज़र लाइट शो' का आयोजन कर रही है.