पूर्वी दिल्ली, नोएडा और गाज़ियाबाद के लोगों को अब फ़्लाइट पकड़ने के लिए दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट नहीं जाना होगा. क्योंकि बहुत जल्द हिंडन एययपोर्ट को आम नागरिकों के लिए खोला जाएगा. इस एयरपोर्ट का उद्घाटन 8 मार्च को पीएम मोदी ने किया था. फ़िलहाल एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया इस नए एयरपोर्ट के लिए एयरलाइन्स कंपनियों की तलाश कर रही है.

हिंडन एयरपोर्ट से शिमला, गुलमर्ग, जामनगर, नासिक, कन्नूर, फैज़ाबाद, लखनऊ और गोरखपुर के लिए सेवाएं शुरू की जाएंगी. इस एयरपोर्ट से उड़ान भरने के लिए इंडिगो, गोधावत एयरलाइन्स, हेरिटेज एविएशन और टर्बो एयरलाइन्स ने रूचि दिखाई है.

Source: Twitter/Airports Authority of India

यहां से लोगों को उड़ान स्कीम के तहत भी फ़्लाइट मिलेंगी. इस योजना में हवाई टिकट 2 से 2.5 हज़ार रुयपे में मिलता है. हिंडन एयरपोर्ट के रनवे का स्वामित्व अभी भी एयरफ़ोर्स के पास है. इसलिए प्राइवेट एयरलाइंस को यहां अपनी सेवाएं देने के लिए उन्हें शुल्क देना होगा.

करीब 40 करोड़ रुपये की लागत से बने इस एयरपोर्ट में 300 यात्रियों को संभालने की क्षमता है. यहां 90 कार्स के लिए पार्किंग की सुविधा भी उपलब्ध है. हिंडन एयरपोर्ट उद्घाटन भले ही हो गया हो, लेकिन आम नागरिकों के लिए इसको 15 मई के बाद खोले जाने की संभावना है.

Source: Magic Bricks

इसके सुचारू रूप से संचालित होने के बाद, इंदिरा गांधी एयरपोर्ट की कुछ फ़्लाइट्स को यहीं से ऑपरेट करना शुरू कर दिया जाएगा. यहां से यात्री महाराष्ट्र, उत्तराखंड, गुजरात, कर्नाटक, हिमाचल प्रदेश के 8 शहरों के लिए फ़्लाइट ले सकेंगे.