दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को 'कोरोना वायरस' के ख़तरे को देखते हुए राजधानी में होने वाले 'IPL' मैचों के आयोजन पर रोक लगा दी है. दिल्ली में IPL के कुल 7 मैच खेले जाने थे, जबकि पहला मैच 30 मार्च को खेला जाना था.

Source: iplt20

इससे पहले गुरुवार को दिल्ली सरकार ने राजधानी दिल्ली के सभी स्कूल, कॉलेज, कोचिंग सेंटर और सिनेमाहॉल 31 मार्च तक बंद करने का फ़ैसला किया था. हालांकि, इनमें वो स्कूल शामिल नहीं हैं जहां परीक्षाएं हो रही हैं.

शुक्रवार को दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मीडिया से बातचीत में कहा कि, दिल्ली में फ़िलहाल किसी भी तरह के खेल आयोजित नहीं किए जायेंगे. हमने हर तरह के खेलों के आयोजन पर पूरी तरह से रोक लगाने का फ़ैसला किया है जिनमें अधिक संख्या में लोग एकत्र होते हैं. IPL भी उनमें से एक है.

Source: amarujala

दिल्ली सरकार ने इसके साथ ही राजधानी दिल्ली में 200 से अधिक लोगों की पब्लिक गेदरिंग वाले सभी सेमिनार, कॉन्फ़्रेंस और बड़े आयोजनों पर भी रोक लगा दी है. इसके साथ दिल्ली सरकार ने तत्काल प्रभाव से दिल्ली के सभी सार्वजनिक स्विमिंग पूल 31 मार्च तक बंद करने के आदेश भी दिए हैं.

'कोरोना वायरस' को रोकने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका

मोहित कुमार गुप्ता नाम के एक वकील ने दिल्ली हाईकोर्ट में पत्र के ज़रिए भेजी याचिका में राष्ट्रीय राजधानी के सभी ज़िला अदालतों में 'कोरोना वायरस' फ़ैलने से रोकने के लिए तत्काल कदम उठाए जाने का अनुरोध किया है.

Source: cricketaddictor

'कोरोना वायरस' के बढ़ते खतरे को देखते हुए बीसीसीआई ने भारत और साउथ अफ़्रीका के बीच खेली जा रही वनडे सीरीज़ के आख़िरी दो मैचों को खाली स्टेडियम में कराने का फ़ैसला लिया है. अब बीसीसीआई IPL मैच भी खाली स्टेडियम में कराए जाने पर विचार कर रही है.