देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना का क़हर लगातार बढ़ रहा है. दिल्ली में अब तक 25,00 से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं, जबकि 659 लोगों की मौत भी हो गई है. दिल्ली वर्तमान में कोरोना से संक्रमित राज्यों की लिस्ट में महाराष्ट्र व तमिलनाडु के बाद तीसरे नंबर पर है.

Source: bbc

दिल्ली में पिछले 10 दिनों में कोरोना के 10 हज़ार से अधिक मामले सामने आ चुके हैं, जबकि पिछले 4 दिनों से हर रोज़ 1000 से अधिक मामले दर्ज हो रहे हैं. बुधवार को कोरोना के सर्वाधिक 1,513 मामले सामने आये थे. पिछले 24 घंटे में कोरोना के 1359 नए मामले सामने आए हैं. इस दौरान 22 मौत की मौत हुई हैं.

दिल्ली उच्च न्यायालय के 4 मई के आदेश के अनुपालन में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक़, 28 मई से लेकर अब तक पिछले 1 हफ़्ते में कोरोना के मामलों में हर दिन वृद्धि हो रही है. कोरोना संक्रमित की दर 17 प्रतिशत से ऊपर बनी हुई है, जबकि 31 मई को संक्रमित की दर सर्वाधिक 37.7 प्रतिशत थी.

28 मई को 5,988 नमूनों में से 1,024 टेस्ट कोरोना पॉज़िटिव निकले थे, इस दौरान दर 17.1 प्रतिशत थी.


29 मई को 5,272 नमूनों में से 1,105 टेस्ट पॉज़िटिव निकले, इस दौरान दर 21 प्रतिशत थी.

30 मई को 5,783 नमूनों में से 1,163 टेस्ट पॉज़िटिव निकले, इस दौरान दर 20.1 प्रतिशत थी.

31 मई को 3,436 नमूनों में से 1,295 टेस्ट पॉज़िटिव निकले, इस दौरान दर 37.7 प्रतिशत थी.

Source: livemint

दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर गुरुवार को हुई समीक्षा बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने जांच बढ़ाने, सघन निगरानी रखने, संपर्कों का पता लगाने और प्रतिबंधित क्षेत्रों में कड़ाई से नियमों का पालन करने पर ज़ोर दिया. दिल्ली के अधिकतर ज़िलों में कोरोना के बढ़ते मामले, उच्च संक्रमण दर और और कम जांच स्तर चिंताजनक है.

Source: intoday

हर्षवर्धन ने कहा कि, दिल्ली में प्रति 10 लाख की आबादी पर जांच नमूनों की औसत संख्या 2018 है. उत्तर पूर्वी और दक्षिण पूर्वी दिल्ली में प्रति 10 लाख आबादी पर जांच नमूनों की औसत संख्या क्रमश: 517 नमूने और 506 है. दिल्ली में पिछले सप्ताह संक्रमण की पुष्टि दर 25.7 प्रतिशत थी, वहीं अनेक ज़िलों में ये आंकड़ा 38 प्रतिशत से ऊपर है.

Source: ndtv

दिल्ली में स्वास्थ्य कर्मियों में संक्रमण की उच्च दर भी चिंता का विषय है. इससे पता चलता है कि दिल्ली में स्वास्थ्य केंद्रों में कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण और उसकी रोकथाम चिंताजनक है. दिल्ली सरकार को इस पर प्राथमिकता से ध्यान देने की ज़रूरत है. स्वास्थ्य ढांचे को मज़बूत करने के लिए जांच क्षमता बढ़ाने की आवश्यकता है.