देश में 17 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने नए दिशा-निर्देश जारी करते हुए शराब की दुकानों को खोलने की इजाज़त दी थी. उसके बाद शराब की दुकानों पर ज़बरदस्त भीड़ देखने को मिली. उनके बाहर कस्टमर्स की लाइन कई किलोमीटर तक लग गई थी. इस बीच सोशल डिस्टेंसिंग का भी लोगों ने ख़्याल नहीं रखा. इससे लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण होने का ख़तरा भी बढ़ गया था.

इस समस्या से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने एक नया तरीका निकाला है, वो है ई-टोकन का. अब जिस शख़्स को शराब ख़रीदनी है उसे ऑनलाइन टोकन लेना होगा. इसके लिए उसे अपना नाम, पता और मोबाइल नंबर देना होगा. उसके बाद उसे एक ई-टोकन मिलेगा, जिसमें ये लिखा होगा कि वो कब जाकर अपनी पास की दुकान से शराब ख़रीद सकता है. इसके लिए सरकार ने एक वेबसाइट भी ओपन की है.

buying liquor
Source: zeenews

इसकी मदद से सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन किया जा सकेगा और कोरोना वायरस का ख़तरा भी कम होगा. साथ ही लोगों को शराब ख़रीदने के लिए लंबी-लंबी लाइन्स में भी नहीं लगना पड़ेगा.

वहीं दूसरी तरफ मध्य प्रदेश के होशंगाबाद ज़िले के आबकारी विभाग ने एक नया नियम लागू किया है. इसके तहत शराब की दुकान पर आए कस्टमर्स की उंगली पर वो इंक लगाई जा रही है, जिसका इस्तेमाल वोट के लिए किया जाता है.

buying liquor
Source: hindustantimes

आबकारी विभाग के अधिकारी ने ANI से कहा- 'ज़िले में शराब ख़रीदने के लिए आने वाले लोगों की उंगली पर अमिट स्याही लगाई जा रही है. ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि भविष्य में ज़रूरत पड़ने पर उन्हें ट्रेस किया जा सके.'

उन्होंने ये भी बताया कि, Non Containment ज़ोन में ही शराब की दुकानें खोली गई हैं, जिनकी संख्या 50 है. ग्राहकों को शराब ख़रीदते समय अपना नाम और पता भी रजिस्टर में नोट करवाना होगा.

News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.