दिल्ली पुलिस ने एक मां-बेटी को 2.5 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करने के आरोप में गिरफ़्तार किया है. इन्हें विदेश में घूमने और आलीशान लाइफ़ जीने का शौक है. अपने इसी शौक को पूरा करने के लिए इन्होंने ग़लत रास्ता चुना, जो इन्हें जेल की सलाखों के पीछे ले गया.

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, ये दोनों महिलाएं लंबे अर्से से फ़रार थीं. गिरफ़्तार की गई महिलाओं में एक का नाम मौली कपूर है और दूसरी का नाम अनुराधा. 65 वर्षीय मौली कपूर अनुराधा की मां हैं. अनुराधा ने लंदन से एमबीए की डिग्री ले रखी है.

Source: Oneindia

एमबीए करने के बाद अनुराधा ने कुछ दिन दिल्ली में नौकरी भी की थी, लेकिन जल्दी अमीर बनने के चक्कर में उसने अपनी मां के साथ मिलकर लोगों के साथ धोखाधड़ी करनी शुरू कर दी. इसके लिए उन्होंने साल 2014-2015 में दिल्ली के पॉश इलाके ग्रेटर कैलाश में मौजूद घर के फ़र्ज़ी दस्तावेज़ बनाकर 5 लोगों को बेच डाला.

इसके बाद टोकन मनी के रूप में मिले करीब 2.5 करोड़ रुपये लेकर वो विदेश चली गई. इस पैसे से उन्होंने यूके, यूएस, सिंगापुर और श्रीलंका जैसे देशों की सैर की और लग्ज़री लाइफ़ जीने का शौक पूरा किया. हाल ही में उनके दिल्ली आने की ख़बर पुलिस को मिली थी.

Source: Times Now

दिल्ली पुलिस ने एक टीम बनाकर दोनों को गिरफ़्तार कर लिया. दिल्ली साउथ-ईस्ट के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त घनश्याम बंसल ने बताया कि दोनों महिलाओं के बारे में इनपुट मिला था. इनके नाम पर दिल्ली के दो अलग-अलग थानों में धोखाधड़ी के केस दर्ज हैं. इन्हें कोर्ट ने भगोड़ा घोषित कर रखा था. इसके अलावा अनुराधा पर 2015 से गोवा में एक मर्डर केस भी चल रहा है, जिसमें बेल मिलने के बाद से ही ये फ़रार थीं.

Source: News18 Telugu

पुलिस ने दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है. फ़िलहाल दिल्ली पुलिस गोवा पुलिस के साथ मिलकर केस की तफ़्तीश में जुटी है.