किसी शख़्स के शख़्सियत बनने का सफ़र क़िस्मत, मेहनत और मजबूत इरादों से तय होता है. अब दिल्ली पुलिस में कॉन्स्टेबल फ़िरोज़ आलम को ही ले लीजिए. यूपीएससी एग्ज़ाम में 645वीं रैंक हासिल की है.   

Source: newsd

इधर फ़िरोज़ ने भारत के सबसे मुश्क़िल एग्ज़ाम में सफ़लता पाई और उधर हमारे सोशल मीडिया धुरंधरों ने उन्हें वायरल भी कर दिया. अब भइया फ़िरोज़ की कहानी ग़ज़ब फ़िल्मी टाइप जो ठहरी. तो बस लोगों ने भी ‘पाताल लोक’ से खोजकर उनका फ़िल्मी क़िरदार ढूंढ निकाला.   

दरअसल, फ़िरोज़ की तुलना Netflix सीरीज़ 'Paatal Lok' के क़िरदार इमरान अंसारी से हो रही है. काल्पनिक क़िरदार इमरान अंसारी की तरह फ़िरोज़ भी हैंडसम, ईमानदार और टैलेंटेड हैं. इमरान अंसारी अनुष्का शर्मा द्वारा प्रोड्यूस की गई इस सीरीज़ में पुलिस वाले की भूमिका में थे, जो यूपीएससी का एग्ज़ाम निकालना चाहते थे, फिर हमारे फ़िरोज़ आलम तो रियल लाइफ़ में ही एग्ज़ाम निकाल लिए.    

बता दें, संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने सिविल सेवा परीक्षा 2019 का परिणाम घोषित किया है. प्रदीप सिंह ने परीक्षा में टॉप किया, जबकि जतिन किशोर और प्रतिभा वर्मा ने क्रमशः दूसरा और तीसरा स्थान प्राप्त किया.  

हालांकि, पालात लोक के कैरेक्टर से तुलना के चलते फ़िरोज़ की तस्वीरें इंटरनेट पर ख़ूब सर्कुलेट हो रही हैं. उनकी इस सफ़लता पर लोग कुछ यूं रिएक्ट कर रहे हैं.  

बताते चलें कि, फ़िरोज़ अकेले नहीं है जो यूपीएससी का रिज़ल्ट आने के बाद सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. एक भाईसाहब और भी हैं, जिनके नाम ने भारतीय राजनीति के दो सबसे बड़े प्रतिद्वंधियों को एक कर दिया है. बंदे का नाम है राहुल मोदी और उन्होंने 420वीं रैंक हासिल की है. मतलब हमारे तफ़रीबाज़ों को अब खेलने के लिए इससे अच्छा क्या ही मिलने वाला था. बस धकापेल तफ़री चालू है.