दिल्ली में कोरोना के मरीज़ों की संख्या बढ़कर 44,688 हो गई है. इसे देखते हुए दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने अपने सभी गुरुद्वारों को कोविड केयर सेंटर में बदलने की पेशकश की है. कमेटी ने इस संदर्भ में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पत्र लिख कर आवश्यक मंज़ूरी देने की अपील की है.  

दिल्ली गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने बताया कि वो अपने गुरुद्वारों और शिक्षण संस्थानों में कुल 850 बेड लगा सकते हैं. यहां पर कोरोना के मरीज़ों का इलाज किया जा सकता है. उन्होंने मरीज़ों को खाना, ऑक्सीजन सिलेंडर और दवाइयां भी उपलब्ध कराने की पेशकश की है.

  Gurdwaras
Source: dsgmc

कमेटी ने गुरुद्वारा नानक प्याऊ, गुरुद्वारा बंगला साहिब, गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब, गुरु हरिगोबिंद इंस्टीट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट एंड इन्फ़ॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, गुरु नानक सुखशाला, गुरु हरिकृष्ण पब्लिक स्कूल हरि नगर, गुरुद्वारा दमदमा साहिब, गुरु तेग बहादुर पॉलिटेक्निक इंस्टीट्यूट को कोविड केयर सेंटर बनाने की बात कही है.

Covid care facilities in Delhi Gurdwaras
Source: tellyupdates

सिरसा ने इस बारे में बात करते हुए कहा- 'संकट की इस घड़ी में हम लोगों की हर संभव मदद करने के लिए तैयार हैं. इसलिए हमने दिल्ली सरकार से इस बाबत सभी क़ानूनी मंज़ूरी देने की अपील की है. ये राज्य में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को रोकने में काफ़ी मदद करेगा.'

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए दिल्ली सरकार होटल और बैंक्वेट हॉल को अस्पताल में तब्दील करने की तैयारी कर रही है. उनका लक्ष्य राज्य में कोरोना के मरीज़ों के लिए 15,800 बेड तैयार करना है.

News के और आर्टिकल पढ़ने के लिये ScoopWhoop Hindi पर क्लिक करें.