भारत-चीन के बीच लद्दाख की गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में देश के 20 जवान शहीद होने के बाद देशभर में चीनी सामान का बहिष्कार किया जा रहा है. चीनी सामान को लेकर कुछ लोगों का ग़ुस्सा सातवें आसमान पर है. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के पुतले जलाए जा रहे हैं.  

Source: business

इस बीच पिछले दो दिनों से भारत में ट्विटर पर #BoycottChineseProducts ट्रेंड कर रहा है. बावजूद इसके चीन की स्मार्ट फ़ोन निर्माता कंपनी 'वनप्लस' ने एशियाई देशों में अपनी पकड़ और मज़बूत कर ली है.  

बीते गुरुवार को चीनी सामानों के बहिष्कार के बावजूद चायनीज़ फ़ोन 'OnePlus 8 Pro' भारत में मिनटों के भीतर बिक गया. Amazon पर बिक्री शुरू होते ही ये फ़ोन आउट ऑफ़ स्टॉक चला गया. दुनियाभर में इस फ़ोन के चाहने वालों की कोई कमी नहीं है. भारत में 'OnePlus 8 Pro' क़रीब 54,999 रुपये में बिक रहा है.  

Source: indianexpress

बता दें कि ये चायनीज़ फ़ोन Apple के iPhone11 से कहीं कम क़ीमत में मिल रहा है. परफ़ॉर्मेंस और क़्वालिटी के मामले में ये iPhone11 को भी टक्कर दे रहा है. इसीलिए वनप्लस के सभी फ़ोन्स की भारत समेत सभी एशियाई देशों में काफ़ी मांग है.  

Source: gadgets

भारत में चीनी सामान की बिक्री दर बताती है कि सस्ते दाम वाले चीनी उत्पादों से भारतीयों को दूर करना आसान नहीं होगा. अधिकांश भारतीय थोक बिक्रेता चीनी आयात पर ही निर्भर रहते हैं. बीजिंग हर साल दिल्ली के साथ लगभग 50 बिलियन डॉलर के सरप्लस में प्यापार करता है. 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि अब भारत आयात पर अपनी निर्भरता कम करेगा. तो वहीं केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने तो यहां तक कह दिया कि चायनीज़ भोजन तैयार करने वाले रेस्टोरेंटो पर भी प्रतिबंध लगाना चाहिए.