नया मोटर व्हीकल एक्ट आने के बाद से अब तक कई लोगों को भारी-भरकम चालान का भुगतान करना पड़ चुका है. नये ट्रैफ़िक रूल्स लगने के बाद लोगों के अंदर एक भय सा बना हुआ है. भय इस बात का कि चेंकिग में पकड़े जाने पर कहीं दस्तावेज़ न कम पड़ जायें. अब अगर जुर्माने से बचना है, तो गाड़ी के ज़रूरी दस्तावेज भी रखने पड़ेंगे.

Traffic police
Source: jagran

पर एक समस्या है. वो ऐसा है कि हर समय हम गाड़ियों के कागज़ात साथ लेकर नहीं घूम सकते, क्योंकि आंधी-तूफ़ान और बारिश में इनके नष्ट होने का डर होता है. ख़ासकर दो पहिया वाहनों के. इसके अलावा अगर कभी गाड़ी चोरी हुई, तो सारे कागज़ात भी चोरी हो जाएंगे. इस तरह की मुसीबतों से बचने के लिये पहले लोग दस्तावेज़ों की स्कैन की हुई डिजिटल कॉपी रखते थे. लेकिन अब ये चीज़ वैलिड नहीं है, क्योंकि इस तरह के कई धोखाधड़ी वाले मामले भी सामने आ चुके हैं.

traffic challan
Source: Au

फिर क्या किया जाये?

आपकी इन सभी परेशानियों का हल है Digilocker & mParivahan. इन Apps को आप 'गूगल प्ले स्टोर' और 'एप्पल स्टोर' से डाउनलोड कर सकते हैं. इन Apps में आप गाड़ियों के दस्तावेज़ डिजिटल फ़ॉर्मेट में सुरक्षित रख सकते हैं.

Police
Source: AU

MParivahan में ड्राइविंग लाइसेंस और गाड़ी की RC जैसे दस्तावेज़ रहेंगे. वहीं दूसरी ओर Digilocker में पैन कार्ड, आधार कार्ड और SSC की मार्कशीट जैसे डाक्यूमेंट्स. इतना ही नहीं, इन Apps के ज़रिये आप ट्रैफ़िक से जुड़ी जानकारी भी हासिल कर सकते हैं. क्योंकि ये Apps सरकारी अधिकारियों द्वारा बनाये गये हैं, इसलिये इन पर किसी तरह का संदेह भी नहीं है.

Govt app
Source: Indiatimes

फ़िलहाल ये Apps पूरी तरह ढंग से काम नहीं कर रहे हैं, पर उम्मीद है कि जल्द ही इन सारी समस्याओं का हल खोज लिया जायेगा.

Govt App
Source: Indiatimes

वैसे जो भी है नये ट्रैफ़िक रूल्स से कोई फ़ायदा हो न हो, पर कम से कम इससे हम सड़क पर चलने की तमीज़ तो सीख जायेंगे.