आपके दिल को सुकून और चेहरे पर मुस्कान ला देगी अहमदाबाद से आई ये ख़बर.

2 मार्च को अहमदाबाद के भोलू कोरी और दुर्गा को बच्चा(लड़का) हुआ. जन्म के समय बच्चे का वज़न 640 ग्राम था जिसके चलते उसकी जान पर ख़तरा बना हुआ था.

आर्थिक रूप से तंग भोलू एक माली का काम करता है मगर पहले ही तीन बच्चों का गर्भपात होने की वजह से दोनों ही पति-पत्नी किसी भी क़ीमत पर इस बच्चे को बचाना चाहते थे.

ऐसे में परिवार की मदद करने वहां के डॉक्टरों ने क्राउडफ़ंड करने का सोचा.

family
Source: timesofindia

'अर्जुन मेडिकल फ़ंडरेज़िंग' नामक फ़ेसबुक पेज से उन्होंने बच्चे के इलाज के लिए रुपये इकट्ठा किए. जिसमे की 158 लोगों ने रुपये डोनेट किया.

4 महीने से भी ज़्यादा समय के बाद 14 जुलाई को अर्जुन(बच्चे का नाम) को अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया. जिस समय उसका वज़न 1.875 किलोग्राम था.

इलाज का पूरा बिल 14 लाख रुपये का था जिसमें की 8.75 लाख क्राउडफ़ंड करके मिले और बाकि कुछ डॉक्टर्स और परिवार को जानने वाले लोगों ने दिया.

baby
Source: (Representational image)indianexpress

अस्पताल में बच्चे का इलाज कर रहे डॉ. भाविक शाह का कहना था कि अर्जुन का वजन कम होने के साथ ही उसको सांस लेने तकलीफ़, इन्फ़ेक्शन, दिल में समस्या और कई मुश्किलें थीं. मगर बच्चे के प्रति माता-पिता की छह को देख कर हमने इलाज का ख़र्चा फ़ंड करने का सोचा.