भारत की सबसे तेज़ महिला धावक दुती चंद ने अपनी BMW बेचने की बात सोशल मीडिया पर लिखी.


India Today की एक रिपोर्ट के अनुसार, कोविड- 19 पैंडमिक की वजह से दुती ट्रेनिंग का ख़र्च नहीं उठा पा रही हैं.

दुती ने सोशल मीडिया पर BMW की तस्वीर डाली और उसे ख़रीदने की इच्छा रखने वालों के लिए संदेश छोड़ा. बाद में उन्होंने वो पोस्ट डिलीट कर दिया.

Source: Times of India

दुती के पास 2015 BMW 3- सीरीज़ मॉडल है जिसे उन्होंने 30 लाख में ख़रीदा था. दुती ने India Today को बताया,

कोई भी स्पॉन्सर पैंडमिक के कारण ख़र्च करने को तैयार नहीं है. मुझे ट्रेनिंग, डायट आदि के लिए पैसों की ज़रूरत है इसलिए मैंने गाड़ी बेचने का निर्णय लिया. मैं टोक्यो ओलंपिक के लिए तैयारी कर रही हूं जिसे जुलाई 2021 तक शिफ़्ट कर दिया गया है. 

                    - दुती चंद

दुती ने ये भी बताया कि सरकार भी आर्थिक तंगी से जूझ रही है. दुती ने ये गाड़ी मुख्यमंत्री नवीन पट्टनायक द्वारा दिये गये 3 करोड़ की राशि से ख़रीदी थी. दुती को एशियन गेम्स में अच्छे प्रदर्शन के लिए ये धन राशि दी गई थी.

मेरे पास 2 गाड़ियां हैं और घर पर 3 गाड़ियां रखने की जगह भी नहीं है. 

                    - दुती चंद

Source: Orissa Post

सरकार ने दुती को ट्रेनिंग के लिए 50 लाख रुपये दिये थे. हर महीने दुती को 5 लाख ख़र्च करने पड़ते हैं, जिनमें कोच, फ़िज़ियोथेरेपिस्ट, डायटीशियन की सैलरी आदि भी शामिल है.

मुझे जर्मनी में ट्रेनिंग और फ़िटनेस के ख़र्च के लिए पैसे चाहिए इसलिए मैंने लक्ज़री गाड़ी बेचने की सोची. 

                    - दुती चंद

दुती चंद ने पैंडमिक में भी ग़रीबों की सहायता की थी पर आज उन्हें ख़ुद मदद की ज़रूरत है.