चुनाव संपन्न हुआ, सरकार बन गई, मंत्रियों ने विभाग भी संभाल लिया. उससे पहले EVM छेड़-छाड़ का हौ-हल्ला भी हुआ. लगभग महीने भर बाद चुनाव आयोग ने चुनाव की एक तस्वीर शेयर की, जिसमें एक कहानी है.

अरुणाचल प्रदेश में 480 किलोमीटर दूर मालोगाम के जंगल में Sokela Tayang रहती हैं, वो अपने गांव की अकेली वोटर हैं.

भारत के चुनाव आयोग ने 17वीं लोकसभा चुनाव के लिए उनका मत दर्ज कराने की ख़ातिर एक पूरी टीम भेजी. चार दिन तक यात्रा कर, नदी, नाला, पहाड़ पार करते हुए चुनाव आयोग की टीम अरबों में से एक वोट दर्ज करने मालोगाम पहुंची थी.

चुनाव आयेग ने ट्वीट कर अपने कर्मचारियों का आभार व्यक्त किया है और उनके बारे में लिखा है, 'भारत का चुनाव आयोग 'Silent Rankers' को अपना आभार व्यक्त करता है, जो समर्पण के साथ अपना काम करते हैं.'

सरकारें आएंगी-जाएंगी, मंत्री भी 5 साल में आएंगे लेकिन लोकतंत्र की ताकत ऐसे ही लोग हैं, जो भारत की लोकतान्त्रिक प्रणाली में हमारा विश्वास बनाये रखते हैं.