पिछले हफ़्ते मिस्र (Egypt) की मशहूर मॉडल और इंस्टाग्राम इन्फ़्लुएंसर 'सलमा अल-शिमी' को पुलिस ने मिस्र की सभ्यता का अपमान करने के आरोप में उन्हें और उनके फ़ोटोग्राफ़र को गिरफ़्तार किया है.

दरअसल, शिमी ने पिछले हफ़्ते ही मिस्र की राजधानी काहिरा से थोड़ी दूरी पर स्थित 4,700 साल पुराने पिरामिड के सामने फ़ोटोशूट कराया था. इस दौरान स्थानीय लोगों को शिमी के कपड़े 'अनुचित' लगे तो उन्होंने इसका विरोध किया. विरोध के कुछ देर बाद ही पुलिस ने शिमी और उसके फ़ोटोग्राफ़र होसम मोहम्मद को हिरासत में ले लिया.

बता दें कि शिमी फिलहाल ज़मानत पर बाहर हैं, लेकिन उन्हें सक्कारा पुरातात्विक (Archaeological) स्थल में प्राधिकरण के बिना तस्वीरें लेने के आरोपों का सामना करना पड़ेगा.

मिस्त्र की पर्यटन और प्राचीन कालीन स्थानों के मंत्रालय ने इस मामले से जुड़ा एक पोस्ट अपने फ़ेसबुक पर शेयर किया है. इस दौरान प्राचीन कालीन स्थानों के महासचिव, मुस्तफ़ा वज़िरी का कहना था कि, 'प्राचीन स्थलों पर अपमानजनक तस्वीरें खींचने पर प्रतिबंध है और जो कोई भी प्राचीन कालीन स्थलों या मिस्र की अनोखी सभ्यता को नज़रअंदाज़ करेगा उसे दंडित किया जाएगा'.

हालांकि, मॉडल सलमा अल-शिमी का कहना था कि, उसे इन नियमों के बारे में नहीं पता था और न ही ये पता था कि  बिना परमिट के पुरातात्विक स्थलों पर फ़ोटोग्राफ़ी करना मना है.