तमिलानाडु के सास्त्रा यूनिवर्सिटी के छात्र ने कमाल कर दिखाया है. Times of India की एक रिपोर्ट के अनुसार, रियासुद्दीन समसुद्दीन द्वारा डिज़ाइन किए गए, Femto Satellite को नासा ने लॉन्च के लिए चुना है. Cube in Space प्रोग्राम में रियासुद्दीन का सैटेलाइट सेलेक्ट किया गया है. 

Femto Satellites का वज़न 100 ग्राम से कम होता है और ये काफ़ी कम दाम के डिवाइस होती हैं.  

Source: New Indian Express

New Indian Express के रिपोर्ट के मुताबिक़, रियासुद्दीन के 37 mm के Vision Sat v1 और v2 का पेलोड 30 ग्राम है. V1 और V2 के Edges का मेज़रमेंट 37 mm और 30 mm है. ये विश्व के सबसे हल्के Femto Satellite हैं. 

इन क्यूब्स में 11 सेंसर हैं और ये Polyetherimide Thermoplastic Resin और 3D प्रिंटिंग तकनीक से बनाए गए हैं. चेन्नई के INRO लैब्स के मेंटरशिप के अंडर में रियासुद्दीन ने ये सैटेलाइट्स बनाए. 

Source: Times of India

V1 SR-7 नासा रॉकेट मिशन का हिस्सा होगा और अगले साल जून में इसका लॉन्च Wallops Flight Facility Virginia से होने की संभावना है. V2 नासा Balloon Mission RB-6 का हिस्सा होगा और अगले साल अगस्त में इसके लॉन्च की संभावना है. 

New Indian Express की रिपोर्ट के अनुसार, SASTRA-TBI ने रियासुद्दीन को अपने एंबिशन को पूरा करने और अपना स्टार्टअप खोलने के लिए 5 लाख का ग्रांट भी दे रही है.  

रियासुद्दीन ने नासा की Cubes in Space Global Design प्रतियोगिता भी जीत ली है. इस प्रतियोगिता में 73 देशों के 1000 से ज़्यादा प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया था.