सभी मोबाइल कंपनियां इस ओर काम कर रही हैं कि कैसे फ़ोन कैमरे के लेंस को पतले से पतला करें, इतना पतला कर दें कि वो फ़ोन की सतह से थोड़ा बाहर भी न निकला हो. उनकी रिसर्च टीम को धीरे-धीरे सफ़लता मिल रही है लेकिन University Of Utah के इंजीनियरों को पूरी सफ़लता मिल चुकी है.

Source: wish Business News

उन्हेंने इतने पतले लेंस बना लिए हैं जो वर्तमान के लेंस से हज़ार गुना पतले हैं और सौ गुना हल्के हैं. इसमें किसी प्रकार का उभार भी नहीं है.

Source: UNews

UNews के अनुसार, Monjurul Meem जोकि इस रिसर्च पेपर के सह-लेखक भी हैं, कहते हैं-

'हमारा लेंस सौ गुना हल्का और हज़ार गुना पतला है लेकिन इसी कार्यक्षमता पुराने लेंस जैसी ही है.

एक दूसरे शोधकर्ता राजेश मेनन ने कहा कि आप सोच सकते हैं कि ये माइक्रोस्ट्रक्चर लेंस के बहुत छोटे पिक्सल हैं. ये ख़ुद में लेंस नहीं हैं लेकिन ये साथ मिलकर लेंस की तरह काम करते है.

Source: Sci Tech Daily

इस इनोवेशन से स्मार्टफ़ोन बनाने वाली कंपनियों के अलावा भी कई लोगों को फ़ायदा होगा. इसे आर्मी द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले ड्रोन में लगाया जा सकता है.

इसके हल्के और पतले होने का फ़ायदा ये भी होगा कि इससे फ़ोन की बैट्री बैकअप बढ़ जाएगी क्योंकि कैमरा फ़ोन में कम जगह लेगा और उसकी जगह बड़ी बैट्री का इस्तेमाल हो सकता है.

राजेश मेनन ने कहा कि ये लेंस को बनाना सस्ता भी होगा क्योंकि ये ग्लास की जगह प्लास्टिक के बने होंगे.