कोरोना वायरस के चलते दुनिया के ज़्यादातर देशों में लॉकडाउन हो गया. किसी को उम्मीद नहीं थी कि ये दौर इतना लंबा खिंच जाएगा. यही वजह है कि लोग अब छटपटाने लगे हैं, बाहर निकलना चाहते हैं, दुनिया घूमना चाहते हैं लेकिन कोरोना के चलते ऐसा नहीं कर पा रहे हैं. ऐसे में बहुत से लोगों के मन में दुनिया से अलग-थलग हो जाने की भावना घर कर गई है.

Source: focustaiwan

इसे देखते हुए ताइवान में एक बेहद दिलचस्प प्रोग्राम शुरू किया गया है. यहां एक फ़ेक फ़्लाइट प्रोग्राम के ज़रिए लोगों को यात्रा करने का सुखद एहसास या यूं कहें कि यात्रा पर निकलने की जो फ़ीलिंग होती है, उससे जुड़ा अनुभव कराया जा रहा है. ताइपे के सोंगशान एयरपोर्ट पर गुरुवार को पहले दिन ही 60 लोगों ने इसका अनुभव लिया.

प्रोग्राम में शामिल होने वाले लोगों को एयरपोर्ट पर जाकर चेक इन करना होगा, फिर पासपोर्ट और सुरक्षा जांच के बाद उन्हें बोर्डिंग पास जारी होगा. इसके बाद सभी लोग प्लेन में बैठ जाएंगे. इस प्रोग्राम में शामिल होने के लिए क़रीब 7 हज़ार पर्यटकों ने आवेदन किया था, जिसमें से 60 लोगों का चयन ड्रा के आधार पर किया गया. आने वाले हफ़्तों में इस तरह के कई प्रोग्राम होने हैं. बस इसमें शामिल होने के लिए हेल्थ सर्टिफ़िकेट ज़रूरी होगा.

Source: bhaskar

प्लेन में बैठने के बाद एकदम फ़्लाइट जैसा ही माहौल मिलेगा. प्लेन के अंदर ब्रेकफ़ास्ट मिलेगा, लोगों से बातचीत और उनकी मदद के लिए अटैंडेंट्स होंगे. हालांकि, ये प्लेन बस उड़ान नहीं भरेगा. लोगों का कहना है कि वो देश छोड़कर तो नहीं जा सकते पर एहसास तो ले ही सकते हैं.

Source: bhaskar

बता दें, ताइवान ने कोरोना वायरस को देश में ज़्यादा फैलने नहीं दिया. क़रीब 24 मिलियन की आबादी वाले इस देश में महज़ 449 लोग कोरोना पॉज़िटिव मिले. वहीं, सिर्फ़ 7 संक्रमितों की मौत हुई है.