विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने हाल ही में कोरोना वायरस के नए प्रकार 'Omicron' के बारे में दुनिया को चेतावनी दी है. WHO का कहना है कि वायरस का यह प्रकार बहुत ही ख़तरनाक साबित हो सकता है क्योंकि इस में अत्यधिक तेज़ी से लोगों के बीच फैलने की क्षमता है. यह पहली बार साउथ अफ़्रीका के Botswana में पाया गया था लेकिन अब ये अन्य देशों में भी फैल गया है. भारत में भी इस वेरिएंट के दो लोग पाए गए हैं.

Covid-19 के इस नए प्रकार से जुड़े कई सवाल भी हैं, आइये एक बार उन पर नज़र डालते हैं.

ओमिक्रॉन प्रकार कैसे विकसित हुआ?

हर वायरस का स्वाभाविक प्रकार हमेशा बदलते रहने का होता है. वो हमेशा रूप बदलकर और प्रभावशाली हो जाती है. कोरोना वायरस के साथ भी ठीक कुछ ऐसा ही है. इस बार जब वायरस ने ख़ुद को बदला तो वह अपने पहले बदले हुए रूपों जैसे Delta से भी अधिक प्रभावशाली निकला.

Omicron variant
Source: guim

क्या ओमिक्रॉन वेरिएंट अन्य COVID-19 वेरिएंट की तुलना में अधिक गंभीर है?

शुरुआती रिसर्च में तो यही पता चला है कि ओमिक्रॉन वेरिएंट ने 30 बार म्यूटेट किया है जो संभावित उसे अपने पहले सभी प्रकार से अधिक हानिकारक बनाता है.

ये भी पढ़ें: आपके कमरे में इस्तेमाल होने वाली ये रोज़मर्रा की चीज़ें हो सकती हैं 'Covid-19 हॉटस्पॉट्स'!

क्या ओमिक्रॉन वेरिएंट के लक्षण कुछ अलग़ होंगे? 

ऐसी कोई जानकारी नहीं है किओमिक्रॉन के लक्षण अन्य COVID-19 प्रकारों से अलग़ होंगे. 

Omicron India
Source: weather

क्या मौजूदा वैक्सीन इस वेरिएंट पर कारगर है? 

WHO अन्य वैज्ञानिकों के साथ मिलकर इस ओमिक्रॉन की संभावनाओं को समझने में लगा हुआ है. हालांकि, वैक्सीन महत्वपूर्ण है और यदि आपने अभी तक टीका नहीं लगाया है तो तुरंत लगवा लीजिये. वर्तमान में Covid-19 वैक्सीन डेल्टा जैसे वेरिएंट पर प्रभावशाली रही है.  

आप क्या कर सकते हैं? 

आप वही करिए जो अब तक करते आए हैं - मास्क पहनिए, हाथ साफ़ करते रहे, घर और और उसके आस-पास भी सफ़ाई का ध्यान दें, भीड़- भाड़ वाली जगहों से दुरी बनाकर रखें, वैक्सीन लगवाएं.

ये भी पढ़ें: क्या है कोरोना वायरस का Omicron Variant? जानिए क्यों ये अन्य वैरिएंट से ज़्यादा ख़तरनाक है