कोरोना वायरस के मामले प्रतिदिन बढ़ते ही जा रहे हैं और इससे हो रही मौतों का आंकड़ा भी थमने का नाम नहीं ले रहा है. इस बीच एक राहत देने वाली भी ख़बर सामने आई है.  

दवा कंपनी ग्लेनमार्क फ़ार्मास्युटिकल्स की दवा को कोरोना मरीज़ों के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जाएगा. ग्लेनमार्क की ये दवा उन मरीज़ों को दी जाएगी, जिनमें कोरोना वायरस के कम लक्षण होंगे. इस कंपनी को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ़ इंडिया (डीसीजीआई) की तरफ से शुक्रवार को अप्रूवल मिला है.  

ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स के इस एंटी वायरल ड्रग का नाम फ़वीपिराविर/Favipiravir (फेबिफ़्लू) है. इस दवा की अगले कुछ दिनों में बाजार में उपलब्ध होने की संभावना है.  

glenmark
Source: aajtak

फ़वीपिराविर क्या है? 

फ़वीपिराविर एक एंटी-वायरल दवा है और इसे इन्फ्लूएंज़ा के इलाज के लिए जापान में मंजूरी दी गई है. वर्तमान में कोविड-19 के लिए 18 क्लिनिकल ट्रायल्स में इसका परीक्षण किया जा रहा है जिसमें की दो अध्ययनों में इसका परिणाम सकारात्मक निकला है जबकि अन्य परीक्षणों के डेटा का अभी भी इंतज़ार है.  

फेज-3 के क्लिनिकल डाटा के अनुसार, ग्लेनमार्क कंपनी को इस दवा के निर्माण और बिक्री की मंज़ूरी मिली है. एंटी-वायरल दवा, फ़वीपिराविर को FabiFlu (फेबिफ़्लू) के नाम से बेचा जाएगा. इस दवा का इस्तेमाल केवल उन मरीज़ों के लिए है जिनमें कोरोना वायरस के हल्के लक्षण हैं.  

fabiflu
Source: financialexpress

कोविड -19 रोगियों में ये दवा लेने से क्या सुधार हुआ है? 

कंपनी का दावा है कि उन्होंने 4 अध्ययन किए हैं: 2 चीन और 1-1 रूस और जापान में.  

चीन में 80 मरीज़ों पर फ़वीपिराविर ड्रग का अध्ययन अन्य एंटीरेट्रोवायरल ड्रग्स लोपिनवीर और रिटोनवीर के साथ किया था. जिसमे फ़वीपिराविर ड्रग नतीजे ज़्यादा सकारात्मक थे. मरीज़ों के बुख़ार और खांसी में तेज़ी से राहत देखने को मिली.  

जापान में कोरोना के हल्के लक्षण वाले 2,141 रोगियों पर इस दवा का इस्तेमाल किया गया और उनमें सकारात्मक नतीजे देखने को मिले.   

covid-19 drug
Source: indiatoday

कैसे ख़रीद सकते हैं ये दवा ? 

बिना प्रिस्क्रिप्शन के ये दवा आपको नहीं मिलेगी.  

यदि आप में कोरोना के हल्के लक्षण हैं तो किसी डॉक्टर की सलाह से और उस के द्वारा हस्ताक्षर किए गए पर्चे को दिखा कर ही आपको ये दवा मिलेगी. 

fabiflu
Source: indianexpress

कितनी होगी दवा की क़ीमत? 

 बताया गया है कि इसके एक पैकेट की कीमत 3500 रुपये होगी. इस पूरे पैकेट में 34 टैबलेट होंगी. 

यह दवा डॉक्टर की सलाह पर 103 रुपये प्रति टैबलेट के दाम पर मिलेगी. इस दवा को फिलहाल 200 एमजी टैबलेट के रूप में तैयार किया गया है.