शायद ही किसी ने सोचा होगा कि भारत में खेती-किसानी के महत्व पर सवाल उठाया जाएगा. भले ही ये कितना भी बेतुका हो, मगर ऐसा हो रहा है. कई बार ये सीधे तौर पर नहीं होता है, मगर उनके साथ होने वाला सुलूक बहुत कुछ साफ़ कर देता है.

अगर आप भी उनके महत्व को कम आंकते हैं तो ये कुछ तथ्य आपकी समझ को दुरस्त करने में मदद करेंगे:   

तथ्य का स्रोत 

तथ्य का स्रोत 

तथ्य का स्रोत 

तथ्य का स्रोत 

तथ्य का स्रोत 

तथ्य का स्रोत 

तथ्य का स्रोत 

किसान हैं देश के रीढ़ की हड्डी.

Creatives by: Sawan Kumari