Fake IPL In Gujarat Village: आपने बॉलीवुड मूवी स्पेशल 26 तो देखी होगी, जिसमें कुछ लोग मिलकर फ़ेक सीबीआई ऑफ़िसर बन रसूखदारों के घर रेड मार उन्हें लूटते हैं. ये फ़िल्म 1987 की सच्ची घटना पर आधारित थी जब कुछ लोगों ने एक फ़र्जी सीबीआई टीम बनाकर मुंबई के एक जौहरी के यहां इनकम टैक्स की रेड मारी थी. 


ऐसी ही एक फ़र्ज़ी घटना गुजरात में भी घटी है, जहां रेड तो नहीं, पर फ़र्ज़ी IPL खेल लिया गया. सच में बड़े तेजस्वी हैं हमारे यहां के लोग. ये कोई छोटा-मोटा गेम नहीं था, बल्कि इसके तार विदेश से जुड़े थे. खिलाड़ी से लेकर अंपायर सबके सब फ़र्ज़ी. आइये, विस्तार से आपको बताते हैं ये इस फ़र्ज़ी आईपीएल की सच्ची कहानी.   

विस्तार से पढ़ें गुजरात के फ़्रज़ी आईपीएल (Fake IPL In Gujarat Village) की कहानी

गुजरात का Fake IPL 

Fake IPL
Source: timesofindia

Fake IPL In Gujarat Village: ये फ़ेक आईपीएल किसी शहर के स्टेडियम में नहीं, बल्कि वडनगर (गुजरात) के मोलिप गांव में खेला जा रहा था. इस Fake IPL का उद्देश्य खेल नहीं बल्कि बड़े स्तर की सट्टेबाजी थी. वहीं, जब इस फ़र्जी खेल की जानकारी पुलिस को लगी, तो इस रैकेट का भंडाफ़ोड हुआ और कई लोगों की गिरफ़्तारी की गई.   

सब के सब नक़ली 

FAKE IPL
Source: timesofindia

Fake IPL In Gujarat Village: इस फ़ेक आईपीएल का आयोजन बड़ी प्लानिंग के साथ किया गया था, जिसमें बाक़ायदा फ़र्जी आईपीएल टीम बनाई गई थी, फे़क सीएसके, मुंबई इंडियंस व फे़क गुजरात टाइटंस. ये फ़र्ज़ी आईपीएल क्वार्टर फ़ाइनल तक पहुंच गया था, लेकिन आगे बढ़ने से पहले ही इसका भंडाफोड़ हो गया. इस खेल के लिए खेत किराये पर लिया गया और खेत के चारो ओर हैलोजन लाइट लगाई गई थी.  

मज़दूरों को बनाया गया खिलाड़ी 

BAT
Source: zeenews

Fake IPL In Gujarat Village: इस फ़ेक आईपीएल के लिए प्रोफ़ेशनल खिलाड़ियों को नहीं, बल्कि मजदूरों को अन्य युवाओं को खिलाड़ी बनाया गया था. इन्हें आईपीएल टीम की फ़र्ज़ी जर्सी भी दी गई थी, जिसे इन्हें बदल-बदलकर पहनना था. मीडियो रिपोर्ट्स के अनुसार, इसमें क़रीब 21 मज़दूर और युवा शामिल थे. मज़दूर बने फ़र्जी खिलाड़ियों को 400 रुपए प्रति मैच देने का वादा किया गया था.   


खिलाड़ियों के अलावा, फ़र्ज़ी कमेंटेटर भी बैठाया गया था, जो लोकप्रिय कमेंटेटर हर्षा भोगले की आवाज़ निकालने में माहिर था. मतलब, सब कुछ ऐसे सेट किया गया था कि देखने वाले को ये सही का आईपीएल लगे.   

कौन था गुजरात के फ़्रजी आईपीएल का मास्टमाइंड?   

Fake IPL In Gujrat
Source: timesofindia

Fake IPL In Gujarat Village: इस फ़र्ज़ी आईपीएल को अंजाम शोएब दावड़ा नाम के एक शख़्स ने दिया था. इसने क़रीब 8 महीने शट्टेबाजी के लिए मशहूर रूस के पब में काम किया था, जिसके बाद ये भारत आया और फ़ेक आईपीएल की प्लानिंग की. वहीं, छानबीन में पता चला कि जब शोएब रूस के पब में काम कर रहा था, तब उसकी मुलाक़ात आसिफ मोहम्मद से हुई, जो इस फ़्रज़ी खेल का मास्टरमाइंड है.  

यूरोपीय देशों से हो रही थी बेटिंग 

money
Source: brookings

जैसा कि हमने ऊपर बताया कि ये एक बड़े स्तर की बेटिंग थी, जिसमें रूस सहित कई यूरोपीय देशों से सट्टेबाजी की जा रही थी. वहीं, मैचों की लाइव स्ट्रीमिंग यूट्यब हो रही थी. रूस में बैठे लोगों को ये खेल बिल्कुल सही का प्रतीत हो रहा था.