फ़ेक न्यूज़ की ऐसी अति हो चुकी है कि जो चीज़ लोग नहीं जानते, उसे फ़ेक न्यूज़ मान लेते हैं. बावजूद इसके कहीं न कहीं वो भी फ़ेक न्यूज़ में फंस जाते हैं.

शायद आपकी भी नज़र पड़ी होगी एक अख़बार की कटिंग पर, जिसका शीर्षक था: लोकसभा चुनावों में वोट देने नहीं गए, तो बैंक अकाउंट से कटेंगे Rs. 350. इसे विश्वसनिय दिखाने के लिए ख़बर के भीतर चुनाव आयोग के अधिकारी को भी कोट किया गया है.

Source: Alt News

तस्वीर के रूप में ये ख़बर कई सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स में घूम रही है. Alt News ने इस ख़बर की पड़ताल की तो पाया कि इसे 21 मार्च, 2019 को नवभारत टाइम्स ने पब्लिश किया था, साथ ही ये डिस्क्लेमर लगाया गया था:

Source: Alt News

इस ख़बर में कोई सच्चाई नहीं है. यह मज़ाक है और किसी को आहत करना इसका मक़सद नहीं है. इसी ख़बर को लोकमत ने भी छापा, जिसके अंत में 'बुरा न मानो होली' है लिख कर मज़ाक का रूप दिया गया.

Source: Alt News

नवभारत टाइम्स ने होली के मौके पर एक पेज मज़ाकिया तौर 'बुरा न मानो होली है' के तर्ज पर छापा था, जिसमें मनगढ़ंत ख़बरें और विज्ञापन छपे थे. उसमें एक ख़बर थी, 'पाक ने हाफ़िज़ सईद को भारत के हवाले किया, अब दाऊद की बारी'. इस ख़बर को संदर्भ से हटा कर सोशल मीडिया में खूब शेयर किया गया था. Zee News जैसी मुख्यधारा के ख़बरिया चैनल भी इसके झांसे में आ गया था.