कोलकाता में एक परिवार ने मृत सदस्य का शरीर 2 दिनों तक फ़्रीज़र में रखा.


रिपोर्ट्स के अनुसार, अधिकारियों से कोई मदद नहीं मिली और परिवार को ये क़दम उठाना पड़ा.

NDTV की रिपोर्ट के मुताबिक़, कोविड- 19 टेस्ट करवाने के कुछ ही घंटों बाद 71 वर्षीय बुज़ुर्ग की मृत्यु हो गई. सिविक अथॉरिटीज़ ने 48 घंटे बाद बॉडी हटाई.

Source: Indian Express

News18 की रिपोर्ट के अनुसार, जिस डॉक्टर ने बुज़ुर्ग का टेस्ट करवाने का सुझाव दिया था उसने बुज़ुर्ग की मौत के बाद डेथ सर्टिफ़िकेट इश्यू करने से मना कर दिया. डॉक्टर ने परिवार को Amherst Street थाने से संपर्क करने की हिदायत दी.


पुलिस ने इस परिवार को लोकल काउंसिलर से संपर्क करने को कहा लेकिन इस परिवार को वहां से भी कोई मदद नहीं मिली और तब उन्होंने स्टेट हेल्थ डिपार्टमेंट से संपर्क किया.

मृतक के परिवार के सदस्य ने बताया, 'हमने कई बार हेल्पलाइन नंबर और हेल्थ डिपार्टमेंट में फ़ोन किया पर हमें कोई मदद नहीं मिली.'

बुज़ुर्ग का अंतिम संस्कार करने में असमर्थ इस परिवार ने कई मुर्दाघरों को भी फ़ोन मिलाया लेकिन कोई भी मृतक का शरीर लेने को तैयार नहीं था.


अंतिम संस्कार न कर पाने की हालत में इस परिवार ने कहीं से फ़्रीज़र की व्यवस्था की.

मंगलवार रात को आये टेस्ट रिज़ल्ट में ये पता चला कि मृतक कोविड- 19 पॉज़िटिव थे.

Source: Sakal Times
रिपोर्ट्स मिलने के बाद भी हमने स्टेट हेल्थ डिपार्टमेंट में फ़ोन किया पर किसी ने जवाब नहीं दिया. बुधवार सुबह को डिपार्टमेंट से फ़ोन आया और हमने उन्हें सब बताया. 

                    - परिवार का एक सदस्य

बुधवार को कोलकाता म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन के कर्मचारी पहुंचे और मृतक के शरीर को अंतिम संस्कार के लिए ले गये.