उत्तर प्रदेश में एक ऐसी घटना हुई है, जो बताती है कि दुनिया में बहुत बड़े वाले कलाकार पड़े हैं. ऐसे-ऐसे लख़ैरे घूम रहे हैं, जिनकी पूरी ज़िंदगी हंसी-ठिठोली में ही गुज़री जा रही है. इनके मज़ाक-मज़ाक में कोई आदमी मर जाए इन्हें रत्तीभर फ़र्क नहीं पड़ता है. अब बताइए कन्नौज में एक तफ़रीबाज़ ने पूरे परिवार को मेथी बताकर गांजे की सब्ज़ी खिला दी, जिसके बाद उन सभी की तबीयत बिगड़ गई और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा.  

Source: unsplash

Navbharat Times की रिपोर्ट के मुताबिक़, गांव के नवल किशोर नाम के एक शख़्स ने ओमप्रकाश के परिवार को गांजा दिया था. उसने ये गांजा ओमप्रकाश के बेटे नितेश को सूखी मेथी बताकर दिया और कहा कि घर पर सब्ज़ी बना लेना. नीतेश ने उसे घर लाकर अपनी भाभी को दिया. परिवार ने भी उसे मेथी समझकर सब्ज़ी बना ली.   

घर के सभी छह सदस्यों ने उस गांजे वाली सब्ज़ी को खा लिया, जिसके बाद सबकी हालत बिगड़ गई. उन लोगों ने किसी तरह पड़ोसियों को डॉक्टर को बुलाने को कहा, जिसके बाद सभी लोग बेहोश हो गए और उन्हें हॉस्पिटल में एडमिट करना पड़ा.  

Source: unsplash

सूचना पाकर मौके पर पुलिस पहुंची तो उन्हें कढ़ाई में रखी सब्ज़ी और बिना पका हुआ गांजा मिला. इसके बाद पुलिस ने नवल किशोर को हिरासत में ले लिया.   

Source: navbharattimes

पुलिस ने जब उससे पूछताछ कि तो उसने बताया, ‘मैंने मज़ाक-मज़ाक में गांजे की पत्तियां दे दी थीं.’ बता दें, फ़िलहाल परिवार का इलाज चल रहा है और धीरे-धीरे उनकी तबीयत में सुधार हो रहा है.   

इस तरह का वाहियात और घटिया मज़ाक किसी की मौत का कारण भी बन सकता है. साथ ही किसी को धोखे से नशीला पदार्थ खिलाना कानूनन अपराध है. इसलिए लोगों को ऐसी हरकतों से दूर रहना चाहिए.