हज़ारों किसान दिल्ली पहुंचने के लिए पदयात्रा पर निकले हैं. 'दिल्ली चलो' नारे के साथ पंजाब, हरियाणा के किसान अपनी मांग लेकर दिल्ली आना चाहते हैं. केन्द्र और राज्य सरकार इन किसानों को रोकने की पूरी कोशिश कर रही है. बॉर्डर बंद कर दिए गए हैं, आंसू गैस के गोले फेंके जा रहे हैं और किसानों पर सर्दी में वॉटर कैनन चलायी जा रही है. 

पुलिस और किसानों के बीच कई जगह झड़प भी हुई. इस बीच इंटरनेट पर एक युवक का वीडियो वायरल हो रहा है. इस युवा ने पुलिस की गाड़ी पर चढ़कर वॉटर कैनन को बंद किया और वापस विरोध प्रदर्शकों से भरे ट्रैक्टर पर कूद गया.  

जहां सोशल मीडिया पर लोग इस युवा की जांबाज़ी की दाद दे रहे हैं, वहीं सरकार की नज़र में ये एक विलेन है. NDTV की एक रिपोर्ट के अनुसार, 26 वर्षीय नवदीप सिंह पर हत्या की कोशिश का मुक़दमा लगाया गया है. इसके अलावा उस पर Rioting, कोविड-19 नियमों का उल्लंघन करने के भी चार्जेज़ लगे हैं.

Times of India की रिपोर्ट के मुताबिक़, फ़ार्म लीडर जय सिंह के बेटे नवदीप सिंह ने बीते बुधवार को एनएच 44 पर वॉटर कैनन बंद किया.  

मैंने कभी कोई ग़ैर-क़ानूनी काम नहीं किया और मुझे विरोध कर रहे किसानों से हिम्मत मिली. हम शांतिपूर्ण प्रदर्शन करते हुए दिल्ली तक जाने की इजाज़त मांग रहे थे लेकिन पुलिस ने हमारा रास्ता रोका. हमारे पास सरकार से सवाल करने का और अगर पारित किए गए क़ानून नागरिक विरोधी हैं, तो उसका विरोध करने का पूरा अधिकार है. 

                    - नवदीप सिंह

Source: Twitter

नवदीप ने ये भी बताया कि उसको एक पुलिसवाले ने पांव पर लाठी मारी थी. नवदीप ने पुलिसवालों के प्रति कोई गु़स्सा नहीं दिखाया और कहा कि वो भी अपना काम कर रहे हैं. केन्द्र सरकार द्वारा पारित किए गए 3 फ़ार्म बिल से किसान नाख़ुश हैं और विरोध कर रहे हैं.