हरियाणा के करनाल ज़िले के एक शख़्स ने दिल्ली के सिंघू बॉर्डर पर ख़ुदकुशी कर ली. India Today की रिपोर्ट के अनुसार, बीते बुधवार को संत बाबा राम सिंह ने किसानों के विरोध को अपना समर्थन देते हुए अपनी जान ले ली. 

Indian Express की रिपोर्ट के अनुसार, दिवंगत के पास से सूसाइड नोट बरामद किया गया है, जिसमें गुरूमुखी में लिखा था. 

मुझ से किसानों का दुख देखा नहीं जाता. अन्याय सहना अन्याय करने जितना ही बुरा है. बहुत से लोगों ने अब तक बलिदान दिया है. 
Source: Indian Express

देर शाम प्रेस कॉन्फ़्रेंस में फ़ार्म यूनियन लीडर्स ने मौत की पुष्टि की और परिवार के लिए सहानुभूति जताई. बाबा राम सिंह उर्फ़ नानकसर सिंघरा धार्मिक उपदेश देते थे.  

केन्द्र सरकार द्वारा लागू किए गए 3 फ़ार्म बिल्स के विरोध में पंजाब हरियाणा के कई किसान, बीते कई दिनों से दिल्ली के बॉर्डर पर बैठे हैं. सरकार और किसानों के बीच कई बार बात-चीत हो चुकी है लेकिन अभी तक कोई हल नहीं निकला है.