दिल्ली के बॉर्डर पर नये फ़ार्म बिल्स के विरोध में बैठे किसानों के यूनियन लीडर्स ने एक दिन का उपवास करने का एलान किया है. नये फ़ार्म बिल्स के विरोध में देशभर में प्रदर्शन करने की भी घोषणा की गई है. 

Source: Free Press Journal

NDTV की रिपोर्ट के अनुसार किसान सोमवार सुबह 8 बजे से शाम के 5 बजे तक उपवास करेंगे. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी किसानों के समर्थन में 1 दिन का उपवास करने का एलान किया. फ़ार्म लीडर गुरनाम सिंह ने सिंघु बॉर्डर से प्रेस कॉन्फ़्रेंस में कहा कि अलग-अलग जगह फ़ार्म लीडर उपवास करेंगे. देशभर में धरना प्रदर्शन के साथ ही दिल्ली बॉर्डर पर विरोध भी जारी रहेगा. 


एक रिपोर्ट के अनुसार, पंजाब के 32 फ़ार्म यूनियन लीडर उपवास पर बैठे हैं. 

अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करके किसानों के समर्थकों को भी उपवास करने को कहा और ये भी कहा कि अंत में जीत किसानों की होगी.  

कई राज्यों से किसान आकर दिल्ली के बॉर्डर पर पिछले 18 दिनों से बैठे हैं. किसानों और सरकार के बीच अब तक 5 बार बात-चीत हो चुकी है लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला है.

Indian Express की रिपोर्ट के मुताबिक़, केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को कहा कि किसानों के हित को ध्यान में रखकर ही फ़ार्म बिल्स लाए गए हैं और किसानों की बात सुनने के लिए सरकार तैयार है. सिंह ने ये भी कहा कि कृषि ही एक ऐसा सेक्टर है जिस पर पैंडमिक की मार नहीं पड़ी है, हमारे वेयरहाउस भरे हुए हैं.  

Source: The Federal

भारतीय किसान यूनियन (एकता उग्रहण) ने जेल में डाले के एक्टिविस्ट को छोड़ने के लिए विरोध प्रदर्शन किया था. इस यूनियन ने एक दिन के उपवास से दूरी बना ली है. बीकेयू के पंजाब से जनरल सेक्रेटरी ने कहा है कि उग्रहण लीडर उपवास नहीं करेंगे.