बिहार के Public Health Engineering Department की परीक्षा में टॉप करने वाली सनी लियोनी के ख़िलाफ़ FIR दर्ज कर ली गई है. आपको बता दें कि बिहार के लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग ने 15 फ़रवरी को जूनियर इंजीनियर परीक्षा की लिस्ट घोषित की थी. इसमें सनी लियोनी नाम की एक छात्रा ने टॉप किया था. इसे 98.5 अंक मिले थे.

Source: latestly

जब इसकी पड़ताल की गई, तो पता चला कि उम्मीदवार लियोनी एक 27 साल की महिला है जिसके पास पांच सालों का वर्क एक्सपीरियंस है. उसके पिता का नाम लिओना है जिसे लियोन लिखा गया था और वो बिहार से अनारक्षित (सामान्य) श्रेणी की उम्मीदवार थी.

इसपर IndianExpress से बात करते हुए प्रिंसिपल सेक्रेटरी जितेन्द्र प्रसाद ने बताया, ‘आईटी सेल ने पाया कि बिहार की Junior Engineer परीक्षा में टॉप करने वाली सनी लियोनी के आवेदन पर सनी लियोनी की फ़ोटो भी लगी थी.‘

Source: hindustantimes

तो वहीं विभाग के जॉंइट सेक्रेटरी अशोक कुमार ने बताया, ‘214 पदों के लिए 17,000 से अधिक आवेदक मिले थे. इसलिए सभी आवेदन पत्रों की जांच करने के लिए हमने सारा डेटा इंटरनेट पर डाल दिया था, ताकि फ़र्ज़ी और ग़लत डेटा पकड़ा जा सके और योग्य उम्मीदवारों को इसका फ़ायदा मिले.’

Source: abplive

आपको बता दें कि परीक्षा में आवेदन देने के लिए उम्मीदवारों को अपने डिप्लोमा, डिग्री, अपने वर्क एक्सपीरियंस और अपने सभी मार्कशीट अंकों के साथ आवेदन करना था. इस आधार पर जिस उम्मीदवार ने सनी लियोनी के नाम के साथ आवेदन दिया था, उसने परीक्षा में पूरे अंक प्राप्त किए थे. इसने जो अकैडमिक रिकॉर्ड लगाया था, उसमें भी उसे 73.50 अंक मिले थे.

इस ख़बर के आने के बाद विपक्ष भी सरकार पर निशाना साधने से पीछे नहीं रहा. विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने कहा, यही तो सरकार की पॉलिसी है ‘फ़र्ज़ी टॉपर बनाओ, फ़र्ज़ी नौकरी पाओ.’

विभाग ने इस फ़र्ज़ीवाड़े की तरफ़ कड़ा रुख़ अपनाते हुए परीक्षार्थियों को अपने आवेदन की डिटेल सही कराने के लिए 24 फरवरी तक का समय दिया है. इसी लिस्ट में तीसरे नंबर पर BVCXZBNNB नाम का एक आवेदक भी है और इसके पिता का नाम Mggvghhnnnn दिया गया है. कुमार ने बताया कि ये फ़ॉन्ट की गड़बड़ी से हो जाता है. इसलिए इसे जल्द ही ठीक किया जाएगा. सभी उम्मीदवारों के अंक ऑनलाइन प्रदर्शित किए गए हैं. इसके अलावा अगले दौर के लिए, 642 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी होगी और उन्हें उनके स्कोर के आधार पर शॉर्टलिस्ट किया जाएगा.