ISRO(Indian Space Research Organisation) द्वारा भेजा गया चंद्रयान-2, 20 अगस्त को चंद्रमा की कक्षा में प्रवेश कर गया था. इन दिनों वो चांद के चक्कर लगा रहा है. बहुत जल्द ही ये चांद की धरती पर कदम रखेगा. लेकिन उससे पहले ही इसने काम करना शुरू कर दिया है और अंतरिक्ष से चांद की पहली फ़ोटो ISRO को भेज दी है.

ISRO ने अपने ट्विटर अकाउंट से इसकी तस्वीरें साझा की हैं. इस तस्वीर को 2650 किलोमीटर दूर से लिया गया है. इसमें चांद की दो महत्वपूर्ण जगहें Apollo Crater और Mare Orientale Basin दिखाई दे रही हैं.

फ़िलहाल चंद्रयान-2 चांद की अंडाकार कक्षा में घूम रहा है. इस स्पेस क्राफ़्ट में ऑर्बिटर, लैंडर और रोवर शामिल हैं. 2 सितंबर को लैंडर विक्रम इससे अलग होगा और चांद की कक्षा में घूमने लगेगा.

Chandrayaan2
Source: downtoearth

इसके बाद 7 सितंबर को ये चांद के दक्षिणी ध्रुव पर सॉफ़्ट लैंडिंग करेगा. इसके लिए ISRO रात 1.40 AM पर एक ऑपरेशन लॉन्च करेगा. इसके चांद की सतह पर उतरने के बाद ही भारत ये कीर्तिमान रचने वाला चौथा देश बन जाएगा. साथ ही पहली बार में चांद के दक्षिणी ध्रुव पर सॉफ़्ट लैंडिंग करने वाला पहला देश बन जाएगा.

Chandrayaan2
Source: firstpost

भारत से पहले चीन, रूस, अमेरिका ही चांद की सतह पर सॉफ़्ट लैंडिंग कर पाए हैं. 7 सितंबर को रोवर प्रज्ञान चांद की सतह पर चलने लगेगा और वहां मौजूद खनिज पदार्थों, मिट्टी और जल के खोज संबंधी एक्सपेरिमेंट करेगा.