भारत में पहली बार ट्रांसजेंडर लाइब्रेरी खोली गई है. ये लाइब्रेरी तमिलनाडु के मदुरई में शुरू की गई है.

दरअसल, मदुरई के विश्वनाथपुरम में ट्रांसजेंडर रिसोर्स सेंटर है. इस लाइब्रेरी को भी उसी रिसोर्स सेंटर के विभाग के तौर पर खोला गया है.

इस बारे में मदुरई स्थित ट्रांसजेंडर रिसोर्स सेंटर की निदेशक प्रिया बाबू का कहना है कि 'राष्ट्रीय बाल नीति (National Children's Policy) में एलजीबीटी समुदाय के बच्चों के लिए भी कार्यक्रम चलाए जाने चाहिए. साथ ही देश की स्कूली शिक्षा व्यवस्था में विषय के रूप में ट्रांसजेंडर के मुद्दों को शामिल किया जाना चाहिए.'

LGBTQ community
Source: theodysseyonline

मदुरई में इस सेंटर को साल 2016 में लॉन्च किया गया था. इसका मुख्य कार्य ट्रांसजेंडर्स को जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में सामान्य रूप से आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करना और लोगों को इनके बारे में जागरूक करना है.

2011 की जनगणना के अनुसार, भारत में करीब 4 लाख 90 हजार ट्रांसजेंडर्स हैं. इनमें से करीब 21 हजार ट्रांसजेंडर्स तमिलनाडु में हैं.