भारत के पूर्व वित्त मंत्री, बीजेपी के वरिष्ठ नेता और लोक सभा सांसद अरुण जेटली का निधन हो गया. वे 66 वर्ष के थे.


जेटली पिछले 2 साल से बीमार चल रहे थे. 2018 में किडनी ट्रांसप्लांट के बाद उन्हें आइसोलेशन में रखा गया. डायबिटीज़ की वजह से उनका वज़न काफ़ी बढ़ गया था जिसे नियंत्रित करने के लिए 2014 में उनकी Bariatic Surgery हुई थी.

Arun Jaitley Front Image
Source: Money Control

2014 में जब बीजेपी ने लोकसभा चुनाव जीता तब सभी को पता था कि प्रधानमंत्री कौन बनने वाला है. मोदी ने जेटली को अपना वित्त मंत्री चुना. जेटली ने पत्र लिखकर मोदी से अनुरोध भी किया था कि उन्हें वित्त मंत्री न चुना जाए क्योंकि वे अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देना चाहते हैं.


जेटली ने वाजपाई के कैबिनेट में भी काम किया. 2009 से 2019 के बीच जब राज्य सभा में बीजेपी विपक्ष में बैठी तब जेटली विपक्ष के लीडर थे.

Arun Jaitley Lawyer
Source: Business Today

पेशे से वक़ील रहे जेटली उन कुछ नेताओं में से हैं जिन्हें इंदिरा गांधी ने आपातकाल के दौरान जेल भेजा था.


उनके निधन पर ट्विटर की प्रतिक्रिया-

जेटली का निधन बीजेपी के लिए बहुत बड़ी क्षति है.