पिछले कुछ दिनों से मेसाच्युसेट की फ़्रेंकलिन पुलिस अपने 'टॉय सेंटर' से गायब हो रहे खिलौनों को लेकर परेशान थी. फ़्रेंकलिन पुलिस 'टॉय सेंटर' में ग़रीब बच्चों को बांटने के लिए रखे गए खिलौनों को चुराने वाले चोर को पकड़ने में लगातार नाकामयाब हो रही थी.

दरअसल, मेसाच्युसेट के फ़्रेंकलिन स्थित पुलिस डिपार्टमेंट में एक 'टॉय सेंटर' है. इस 'टॉय सेंटर' में पुलिस ने एक एनजीओ के बच्चों के लिए टॉय इकट्ठे कर रखे थे. एक दिन जब फ़्रेंकलिन पुलिस ने इन खिलौनों को एनजीओ के सुपुर्द करने का फ़ैसला किया, तो देखा कि वहां से कई खिलौने ग़ायब हैं.

इस बात से फ़्रेंकलिन पुलिस बेहद हैरान थी कि आख़िर उनकी नाक के नीचे से खिलौनों को कौन चुराकर ले जा रहा है? आख़िरकार योजना के तहत एक दिन पुलिस ने चोर को रंगे हाथ पकड़ लिया, लेकिन चोर को देखते ही पुलिस के होश उड़ गए.

दरअसल, फ़्रेंकलिन पुलिस ने जिस चोर को पकड़ा था, वो कोई और नहीं बल्कि उन्हीं के डिपार्टमेंट का थेरेपी डॉग Ben था. बेन पिछले कई सालों से फ़्रेंकलिन पुलिस के वफ़ादार डॉग्स में से एक है.

एक दिन पुलिस ने देखा कि गोल्डन रिट्रीवर डॉग Ben 'टॉय सेंटर' की ओर जा रहा है. इसके बाद डेप्युटी चीफ़ जेम्स मिल कैमरे के साथ बेन के पीछे लग गए. जैसे ही बेन 'टॉय सेंटर' के अंदर घुसा जेम्स ने कैमरा ऑन कर लिया. कुछ देर बाद बेन अपने मुंह में एक बेबी टॉय लिए रंगे हाथों, यानि पैरों पकड़ा गया.

पकड़े जाने पर बेन भागते हुए सीधे अपने रूम में चला गया. इस दौरान पुलिस ने जब डेस्क के नीचे बने के बेड में झांककर देखा तो वहां से कई टॉयज़ मिले. इस दौरान पुलिस को पता चला कि बेन को खिलौने बेहद पसंद हैं.

फ़्रेंकलिन पुलिस डिपार्टमेंट ने चोरी की इस क्यूट सी वारदात के वीडियो को अपने फ़ेसबुक पेज पर शेयर किया है. इस वीडियो को अब तक 329,154 लोग लाईक कर चुके हैं.