दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने वादे के मुताबिक़ रक्षाबंधन के मौके पर डीटीसी और क्लस्टर बसों में महिलाओं को मुफ़्त सफ़र करने का तोहफ़ा दिया है. अब महिलाएं 29 अक्टूबर से दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) की बसों में मुफ़्त में सफ़र कर पाएंगी.

Source: thehindu

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने 73वें स्वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन के मौके पर दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार के इस फ़ैसले से राजधानी दिल्ली में महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने में मदद मिलेगी. रक्षाबंधन के मौके पर ये सभी बहनों के लिए तोहफ़ा है.

Source: lawstreet

महिलाओं के लिए सिंगल जर्नी पास

केजरीवाल सरकार की इस योजना के तहत डीटीसी और क्लस्टर बसों में मुफ़्त सफ़र करने के लिए महिलाओं को सिंगल जर्नी पास दिया जाएगा. ये पास गुलाबी रंग का होगा. हर 'पिंक टिकट’ के लिए सरकार ऑपरेटर को 10 रुपए का भुगतान करेगी.

Source: indiatoday

बसों में तैनात होंगे मार्शल

बसों में महिलाओं की सुरक्षा को लेकर हर बस में मार्शल की तैनाती की जाएगी. मार्शल बसों में सुरक्षा के साथ-साथ महिलाओं को दिए जाने वाले सिंगल जर्नी पास के बारे में भी जानकारी देंगे. सभी महिलाओं को ये टिकट मिले इसकी ज़िम्मेदारी कंडक्टर और मार्शल दोनों की होगी.

Source: ndtv

केजरीवाल सरकार इस योजना के तहत डीटीसी को सब्सिडी भी देगी. साथ ही पास सिस्टम से ये पता भी चल सकेगा कि बसों में रोज़ाना कितनी महिलाओं ने सफ़र किया है. मेट्रो और फ़्री बस सेवा के लिए दिल्ली सरकार को सालाना क़रीब 1400 से 1500 करोड़ रुपए का खर्च उठाना पड़ेगा. फ़्री बस सेवा के लिए ये खर्च 225 से 250 करोड़ रुपए के क़रीब होगा.

Source: livemint

केजरीवाल सरकार का कहना है कि दिल्ली में पब्लिक ट्रांसपोर्ट से सफर करने वाली महिलाओं की सुरक्षा के लिए भी सभी जरूरी उपाय किए जा रहे हैं. बसों में जल्द ही सीसीटीवी और पैनिक बटन लगाने का विचार भी किया जा रहा है.

आंकड़ों के मुताबिक़ दिल्ली में मेट्रो और सरकारी बसों में सफ़र करने वाले यात्रियों में करीब 30 फ़ीसदी महिलाएं होती हैं.