90's के बच्चों की सबसे ख़ूबसूरत यादों में से एक 'टॉम एंड जैरी' शो भी था. इस कार्टून सीरीज़ को शायद ही बचपन में किसी ने मिस किया हो. लेकिन अब हम इस सीरीज़ के जन्मदाता Gene Deitch को मिस करने वाले हैं. 

Source: pinterest

दरअसल, 'टॉम एंड जैरी' और 'पोपाय द सेलर मैन' जैसी कई शानदार कार्टून फ़िल्म के निर्देशक और निर्माता Gene Deitch का 95 साल की उम्र में पराग्वे में निधन हो गया है. वो 16 अप्रैल को अपने अपार्टमेंट में मृत पाए गए थे. इसकी जानकारी उनके क़रीबी पीटर हिमल ने 18 अप्रैल को दी. 

Source: devdiscourse

मशहूर निर्देशक Gene Deitch ने 'टॉम एंड जैरी' सीरीज़ के कुल 13 एपिसोड्स बनाए थे. टॉम (बिल्ली) और जैरी (चूहा) एक दूसरे के जान दुश्मन हैं, लेकिन एक दूसरे से प्यार भी करते हैं. दोनों एक दूसरे को बर्दाश्त भी नहीं कर सकते लेकिन एक दूसरे के बिना रह भी नहीं सकते. यही कारण था कि 'टॉम एंड जैरी' एक ऐसा कार्टून शो है जो आज भी हर उम्र के लोगों को पसंद आता है. 

Source: mirror

कौन थे Gene Deitch? 

दुनियाभर को अपने कार्टून कैरेक्टर्स का दीवाना बना चुके Gene Deitch का जन्म अमेरिका में हुआ था. निर्देशक बनने से पहले वो अमेरिका सेना से जुड़े हुए थे. वो पायलटों को ट्रेनिंग देने और सेना के लिए ड्राफ़्टमैन का काम करते थे. लेकिन सेहत संबंधी समस्याओं के चलते उन्हें साल 1944 में उन्हें सेना से हटा दिया गया था.

Source: odishabytes

Gene Deitch को बचपन से ही कार्टून बनाने का शौक था. सेना से हटाये जाने के बाद उन्होंने एनिमेशन में अपना हाथ आजमाया और दुनिया को 'टॉम एंड जैरी' जैसी हिट फ़िल्म दी. हालांकि, इससे पहले भी कई अन्य फ़िल्में एनिमेशन सीरीज़ बना चुके थे, लेकिन उन्हें प्रसिद्धि 'टॉम एंड जैरी' और 'पोपाय द सेलर मैन' से मिली. 

Source: mirror

Gene Deitch ने 'टॉम एंड जैरी' सीरीज़ में प्यार और नफ़रत का एक बेहद ख़ूबसूरत रिश्ते के तौर पर दिखाने की कोशिश की थी. इस कार्टून कैरेक्टर की यही ख़ूबसूरती लोगों को अपनी ओर आकर्षित करती है.'टॉम एंड जैरी' की सबसे ख़ास बात ये थी कि ये बिना किसी डायलॉग्स के सिर्फ़ म्यूजिक पर ही चलता है. 

Source: indiatvnews

Gene Deitch को साल 1967 में फ़िल्म 'मुनरो' के लिए ऑस्कर पुरस्कार मिला था. इतना ही नहीं बेहतरीन निर्देशन के लिए उन्हें 4 बार ऑस्कर नॉमिनेशन भी मिला था.