जर्मनी से स्टूडेंट एक्स्चेंज प्रोग्राम तक मद्रास IIT में पढ़ने आए जर्मनी के Jakob Lindenthal ने CAA-NRC के विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया था, इस वजह से उसे देश छोड़ने को कहा जा रहा है.

Source: The News Minutea

मीडिया सुत्रों के अनुसार, Jakob के Bureau Of Immigration(BOI) की ओर से किसी प्रकार का लिखित आदेश नहीं मिला है, उसे बस मौखिक तौर पर देश छोड़ने को कहा गया क्योंकि उसने वीज़ा के नियमों के उल्लंघन किया था.

सोमवार की सुबह BOI के अधिकारियों ने जर्मन छात्र को ऑफ़िस में बुला कर दोपहर तक पूछताछ की गई, ख़ासतौर पर उससे भारतीय राजनीति के ऊपर उसके निजी विचार जाने गए और CAA के ऊपर उससे बात की गई.

Source: The Print

जर्मन कंसल्ट ने Jackob को क़ानूनी सहायता देने का ऑफ़र किया था लेकिन उसने सुरक्षा कारणों से देश छोड़ना ही उचित समझा.

Jackob ने प्रदर्शन को दौरान एक प्लेकार्ड हाथ में ले रखा था, जिस पर लिखा था- 1933-1945. We Have Been There. इससे Jackob जर्मनी में हिटलर के तानाशाही के काल को बताया था.