सड़क पर बाइक चलाती हुई लड़कियों पर हर किसी की नज़र चली जाती है. क्योंकि लड़कों की भीड़ में वो सबसे अलग लगती है. कुछ लोगों को वो प्रेरणादायक लगती हैं और कुछ लोगों की नज़रों में खटकती भी है.


2 लोगों को एक बुलेट चलाने वाली लड़की इतनी ज़्यादा खटकने लगी कि उन्होंने उसके घर पर जाकर गोलियां चला दीं. Hindustan Times की रिपोर्ट के मुताबिक ग्रेटर नोएडा के मिलक खटाना गांव में 31 अगस्त को सचिन और कु्ल्लू ने एक 10वीं में पढ़ने वाली लड़की के घर पर गोलियां चलाईं.

women rides bullet
Source: Amar Ujala

लड़की के अंकल ने बताया कि धारा 506, 504, 323 और 452 के तहत आरोपियों पर मामला दर्ज कर लिया गया है पर अभी किसी की गिरफ़्तारी नहीं हुई है.


परिवार ने लड़की की उम्र ज़ाहिर नहीं की है और पुलिस लड़की की उम्र का पता लगा रही है. लड़की दादरी के एक स्कूल में पढ़ती है. लड़की के अंकल ने बताया कि 31 अगस्त को लड़की बुलेट पर दूध लेने बाज़ार गई. आरोपियों ने उसे रास्ते में रोककर बाइक न चलाने को कहा. जब लड़की ने कारण पूछा तो आरोपियों का जवाब था,
'हमें तुम्हारा बाइक चलाना पसंद नहीं.'

Bullet
Source: Jansatta

आरोपियों ने लड़की को धमकाकर कहा कि बाइक चलाने का अंजाम बुरा होगा.


इसके बाद दोनों आरोपी, अपने साथ 2 लड़कों को लेकर लड़की के घर पहुंचा और पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी दी. उन्होंने लड़की के पिता के साथ हाथा-पाई भी की.

Gram Panchayat Khatana Village Greater Noida
Source: News18

बीते गुरुवार को गांव के 50 लोगों ने पंचायत बुलाकर परिवार को केस वापस लेने को कहा. गांव के पूर्व प्रधान, सतीश ने बताया,


'हमने दोनों पार्टियों को बुलाकर मामला सुलझा लिया है. लड़की का परिवार केस वापस लेने को तैयार हो गया है. आरोपी उन्हें आगे तंग नहीं करेंगे.'

स्थानीय पुलिस ने बताया कि उन्हें पंचायत के ऐसे किसी निर्णय की जानकारी नहीं है. जारचा पुलिस थाने के एसएचओ, अनिल कुमार ने बताया कि गांववालों को ऐसी मीटिंग की अनुमति भी नहीं मिली थी.


परिवार ने बाइक छिपा दी है. लड़की के अंकल का कहना है कि सामाजिक बहिष्कार से बेहतर है पंचायत की बात मान ली जाए.

रिपोर्ट्स के मुताबिक सचिन और कुल्लू का आपराधिक रिकॉर्ड रहा है.