जीवन के किसी न किसी मोड़ पर हर इंसान के भीतर कम से कम एक बार ज़रूर ये ख़्याल आता है कि काश! उसके पास नोट छापने वाली मशीन होती, जिससे वो भर-भर के नोट छापता और शॉपिगं करता, रॉबिनहुड वाली फ़ीलिंग लेने के लिए गरीबों में भी बांट देता. फिर हमारा ये सपना टूट जाता है, क्योंकि हमें पता चल जाता है कि ये ग़ैरक़ानूनी है.

लेकिन जर्मनी में रहने वाली इस 20 वर्षीय लड़की ने अपने सपने को सच कर लिया और इंकजेट प्रिंटर पर साधारण कागज़ का इस्तेमाल कर उसने खूब सारे पैसे छापे. और फिर उन पैसों को लेकर चली गई Audi कार ख़रीदने.

Source: Twitter

Oddity Central के अनुसार Kaiserslautern में रहने वाली यह लड़की पिछले सोमवार को कार डीलरशिप में जाकर एक Rs 11,61,611 की पुरानी Audi A3 ख़रीदने आई, पहले उसने कार का मुआयना किया, ट्रेस्ट ड्राइव पर ले गई और आख़िर में पैसे देने के लिए अपनी फर्जी नोट(इसे जाली भी नहीं कह सकते) निकाला.

एक कर्मचारी ने मीडिया को बताया कि वह नोट मोनोपोली बोर्ड गेम(आप व्यापारी समझ लीजिए) के नोट जैसे दिख रहे थे.

'हमने धोखाधड़ी की कई कोशिशों को देखा है. लेकिन किसी ने ऐसी बेवकूफ़ी नहीं की. मैंने उसे पूछा कि क्या वो मोनोपोली खेलना चाहती है.'

FIR होने के बाद पुलिस उस लड़की के घर गई, वहां उसे प्रिंटर से निकले ताज़े-ताज़े 13,000 यूरो नोट मिले. बता दें कि जर्मनी के क़ानून के हिसाब से नकली नोट को छाप कर उसे बाज़ार में इस्तेमाल करने की कोशिश करने की सज़ा कम से कम एक साल की जेल होती है और अगर इस काम में कोई गिरोह भी लगा हो तो दो साल.

अब अगर उस लड़की ने मज़ाक में ऐसा किया था, तो उसका मज़ाक कम से कम एक साल लंबा तो चलेगा ही!