पूर्व बीजेपी विधायक, स्वामी चिन्मयानंद पर कुछ दिनों पहले वीडियो जारी करके एक लड़की ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था. इसके बाद लड़की लापता हो गई थी.


NDTV की रिपोर्ट के मुताबिक़ पुलिस को सर्वाइवर की आख़िरी लोकेशन दिल्ली के द्वारका के एक होटल में मिली. जब तक पुलिस वहां पहुंची तब तक सर्वाइवर जा चुकी थी. सीसीटीवी फ़ुटेज की जांच करने के बाद बुधवार को बरेली ज़ोन के अपर महानिदेशक, अविनाश चंद्र ने ये जानकारी दी. फ़ुटेज में सर्वाइवर के साथ एक लड़का भी नज़र आ रहा है.  

Chinmayanand accused of Sexual Assault
Source: Amar Ujala

India Today की रिपोर्ट के मुताबिक़ जिस लड़के के साथ सर्वाइवर को देखा गया था उसने चिन्मयानंद से 5 करोड़ की फ़िरौती मांगी थी. पुलिस की तरफ़ से अभी तक इस बात की पुष्टि नहीं की गई है.


जांच टीम में शामिल एक पुलिस अधिकारी ने India Today को बताया, 

'हमने आधार कार्ड की फ़ोटोकॉपी बरामद की है, जिसे बतौर Identity Proof जमा किया गया था. लड़का भी शाहजहांपुर से है. उसके परिवार के लोगों का पता लगाया जा रहा है.'   

Ex-BJP MLA Swami Chinmayanand
Source: Dainik Bhaskar

लड़के और सर्वाइवर के मोबाईल फ़ोन रिकॉर्ड्स को चेक करके पुलिस ने शाहजहांपुर से दिल्ली तक उनके भागने के रूट का पता लगा लिया है. सूत्रों के अनुसार, 24 अगस्त को दोनों ने अपने फ़ोन बंद कर लिए और नए नंबर का इस्तेमाल करने लगे. पुलिस ने ये भी बताया कि सर्वाइवर ने 24 अगस्त तक अपने घरवालों से बात की.


पुलिस ने ये भी बताया कि सर्वाइवर कई दिनों से उस लड़के के संपर्क में थी. दोनों के फ़ोन रिकॉर्ड्स से पुलिस को पता चला है कि दोनों दिल्ली में एक ही परिसर में रह रहे थे.   

Swami Chinmayanand full image
Source: The Logical Indian

स्वामी चिन्मयानंद ने आरोपों को साज़िश बताया 

चिन्मयानंद ने उन पर लगे Sexual Harassment के आरोपों को साज़िश बताया था.  

ये मेरे ख़िलाफ़ एक साज़िश है और वो लड़की भी इसका हिस्सा है. इससे पहले 4 लड़के मुझ से पैसे हथियाने की कोशिश कर चुके हैं.

                    - स्वामी चिन्मयानंद

सर्वाइवर, चिनम्यानंद के एस.एस.कॉलेज, शाहजहांपुर की छात्रा है. चिनम्यानंद पर FIR दर्ज की जा चुकी है.  

पहले कुलदीप सिंह सेंगर को ऐसे ही केस में फंसाया गया और अब मुझे निशाना बनाया जा रहा है.

                    - स्वामी चिन्मयानंद

चिनम्यानंद का ये भी कहना है कि ये सब योगी सरकार को बदनाम करने के षड्यंत्र है.