गोवा सरकार, मेडिकल यूज़ के लिए वीड उत्पादन को क़ानूनी मंज़ूरी देने पर विचार कर रही है.

Hindustan Times की रिपोर्ट के अनुसार, ये प्रपोज़ल हेल्थ डिपार्टमेंट की तरफ़ से आया और लॉ डिपार्टमेंट अभी प्रपोज़ल का पुर्ननिरिक्षण कर रही है.

Source: Malaysiakini

Deccan Herald की रिपोर्ट की मानें तो गोवा मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने बीते मंगलवार को ये साफ़ कर दिया कि सरकार के पास एक प्रपोज़ल आया है लेकिन इस मामले पर अप्रूवल नहीं दिया गया है. 

सावंत ने ये भी कहा कि अप्रूवल देना ये न देना ये सरकार का निर्णय होगा. प्रेस वार्ता में सावंत ने ये भी साफ़ कर दिया कि सरकार के पास कई तरह के प्रपोज़ल आते हैं और सभी को मंज़ूरी नहीं मिलती.  

Source: National Next

Hindustan Times की रिपोर्ट के अनुसार, गोवा के क़ानून मंत्री नीलेश कबराल ने कहा कि गांजे की सिर्फ़ कन्ट्रोल्ड फ़ार्मिंग की जाएगी और इसका परमिट सिर्फ़ फ़ार्मास्युटिकल कंपनियों को दिया जायेगा. कबराल ने ये भी कहा कि वो गांजा उत्पाद को लीगल क़रार देने के मत में हैं क्योंकि गांजा कैंसर ठीक करता है.  

Source: Times of India

विपक्ष गोवा फ़ोरवर्ड पार्टी ने कहा कि गांजा उत्पाद लीगल होने से गोवा Vices Hub बन जायेगा और आने वाली पीढ़ी को बर्बाद कर देगा.